जैसे अचानक विवादित ढांचा गिरा था, वैसे ही राम मंदिर का निर्माण शुरू होगा: रामविलास वेदांती

उन्होंने कहा कि इस वक्त केंद्र और ज्यादातर राज्यों में बीजेपी की सरकार है, इसलिए मंदिर बनाने के लिए ये सही वक्त है. 

जैसे अचानक विवादित ढांचा गिरा था, वैसे ही राम मंदिर का निर्माण शुरू होगा: रामविलास वेदांती
उन्होंने कहा कि देश के 80 प्रतिशत मुस्लिम ये चाहते हैं कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो.

नई दिल्ली/फैजाबाद: सीएम योगी के राम मंदिर निर्माण पर सब्र वाले बयान पर राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य रामविलास वेदांती ने कहा है कि जबसे देश आजाद हुआ, तबसे हमने सब्र रखा है. 60 साल की कांग्रेस सरकार से लेकर अटल जी की पूर्ण बहुमत की सरकार तक सब्र रखा. लेकिन सब्र की भी एक सीमा है. उन्होंने कहा कि इस वक्त केंद्र और ज्यादातर राज्यों में बीजेपी की सरकार है, इसलिए मंदिर बनाने के लिए ये सही वक्त है. 

ये भी पढ़ें: राम मंदिर पर बोले प्रवीण तोगड़िया, कहा- 'कोर्ट का आदेश मानना था, तो वादा क्यों किया'?

उन्होंने कहा कि जनता ने और साधुओं ने प्रधान मंत्री मोदी पर विश्वास किया. उन्होंने कहा, कि उन्हें विश्वास है साल 2019 से पहले ही अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा. उन्होंने कहा, जिस तरह अचानक से एक दिन विवादित ढांचा गिरा दिया गया था, ठीक उसी तरह अचानक एक दिन ये सुनने को मिलेगा कि अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है. 

उन्होंने कहा कि सरकार पर पूर्ण विश्वास है. बीजेपी सरकार ने कभी भी राम मंदिर का विरोध नहीं किया. उन्होंने कहा कि देश के 20 राज्यों में बीजेपी की सरकार है. केंद्र सरकार चाहे तो कानून बनाकर भी राम मंदिर का निर्माण करा सकती है. उन्होंने कहा कि कल्याण सिंह ने जन्मभूमि न्यास को जमीन दी थी, जिसके तुरंत बाद ही उसे तत्कालीन केंद्र सरकार ने अधिग्रहित कर लिया था. उन्होंने कहा कि सबसे पहले सरकार उस जमीन को वापस दे, ताकि कुछ कामों की शुरूआत किया जा सके. 

ये भी पढ़ें: रामसेवकों पर गोलियां चलाने वाले भी राम जन्मभूमि की बात करने लगे हैं- सीएम योगी

राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य रामविलास वेदांती ने कहा कि देश के 80 प्रतिशत मुस्लिम ये चाहते हैं, कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो. उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने कहा है कि मीर बांकी शिया था. अयोध्या में बाबर का कोई निशान नहीं है. इसलिए राम के नाम पर अयोध्या है. उन्होंने कहा कि बीजेपी का हर नेता चाहता है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो.