अयोध्या दीपोत्सव में विदेशी कलाकारों की रामलीला प्रस्तुति होगी मुख्य आकर्षण

इस बार पिछले साल के 1.87 लाख दीपों की तुलना में लगभग 3 लाख दीपक प्रज्वलित किए जाएंगे.

अयोध्या दीपोत्सव में विदेशी कलाकारों की रामलीला प्रस्तुति होगी मुख्य आकर्षण
फाइल फोटो

लखनऊ/राजीव श्रीवास्तव: दीपावली के एक दिन पहले छह नवंबर को अयोध्या में आयोजित होने वाला दीपोत्सव पिछले साल की तुलना में इस बार कई मायने में खास होने वाला है. इस बार अयोध्या में भारत के कलाकारों के साथ पांच देशों से आए कलाकार राम लीला मंचन करते हुए अयोध्या में दिखाई देंगे. इसके साथ ही साउथ कोरिया की प्रथम महिला नागरिक और साउथ कोरियाई राष्ट्रपति की पत्नी किम जुंग-सूक दीपोत्सव में मुख्य अतिथि होंगी. इस बार राम लीला के लिए कंबोडिया, लाओस, रूस, इंडोनेशिया और त्रिनिडाड एंड टोबैगो के कलाकारों की टीम आएगी. 

साउथ कोरियाई राष्ट्रपति की पत्नी 4 नवंबर को ही दिल्ली आ जाएंगी. इसके बाद वह दूसरे दिन 5 तारीख की शाम लखनऊ पहुंच जाएंगी. बताया जा रहा है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 5 तारीख की शाम को किम जुंग-सूक को डिनर पर भी आमंत्रित कर सकते हैं. सूक के साथ साउथ कोरिया के सांस्कृतिक कार्यों के मंत्री, कोरेयाई एंबेसडर एवं अन्य अधिकारी भी होंगे. दीपोत्सव के दिन यानि 6 नवम्बर को वह क्वीन हो मेमोरियल पार्क के शिलान्यास कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी. इसके साथ ही वो दीपोत्सव के कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगी.

यही नहीं इस बार पिछले साल के 1.87 लाख दीपों की तुलना में लगभग 3 लाख दीपक प्रज्वलित किए जाएंगे. इस दीपोत्सव का शुभारंभ सीएम योगी आदित्यनाथ प्रतीकस्वरूप एक बड़ा दीपक जलाकर करेंगे. मुख्यमंत्री सरयू नदी पर विशेष आरती में भी हिस्सा लेंगे और वॉटर शो का भी लुत्फ उठाएंगे. पूरी अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाने की भी तैयारी की जा रही है. दीपोत्सव में भगवान हनुमान की छाती चीर कर प्रवेश करने का एक द्वार भी बनाया जाएगा. 

मुख्य कार्यक्रम में पांच देशों जिसमें मुख्यतः रूस, इंडोनेशिया, त्रिनिदाद और टोबैगो, लाओस और कंबोडिया से आए कलाकार रामलीला का मंचन करेंगे. अयोध्या दीपोत्सव की खास बात यह है कि इस बार कार्यक्रम तीन दिनों तक चलेगा और रामलीला के कलाकार 5 नवम्बर को लखनऊ में अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे. पिछली बार की तरह इस बार भी राम, सीता और लक्ष्मण उड़न खटोले से ही आएंगे. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक के अलावा बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन भी दीपोत्सव में हिस्सा लेंगे. तीन दिन चलने वाले इस अयोध्या दीपोत्सव में लाइट एंड साउंड्स का भी प्रदर्शन देखने को मिलेगा.