Ease Of Living Index : देश ने माना यूपी के इन दो शहरों में मिलती है आरामदायक जिंदगी, क्या आपके शहर का भी है नाम?
X

Ease Of Living Index : देश ने माना यूपी के इन दो शहरों में मिलती है आरामदायक जिंदगी, क्या आपके शहर का भी है नाम?

देश में रहने के लिहाज से बेंगलुरु, पुणे, अहमदाबाद बेस्ट शहर हैं. यह जानकारी ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स (EoLI) 2020 की फाइनल रैंकिंग्स से सामने आई है. देश में रहने के लिहाज से बड़े शहरों में उत्तर प्रदेश में लखनऊ ने टॉप किया है और वाराणसी दूसरे नंबर पर है. 

 

Ease Of Living Index : देश ने माना यूपी के इन दो शहरों में मिलती है आरामदायक जिंदगी, क्या आपके शहर का भी है नाम?

लखनऊ:  ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स (Ease Of Living Index) के हिसाब से देश में रहने के लिहाज से उत्तर प्रदेश के 14 शहर बेहतर माने गए हैं. देश में रहने के लिहाज से बड़े शहरों में उत्तर प्रदेश में लखनऊ ने टॉप किया है और वाराणसी दूसरे नंबर पर है. अगर छोटे शहरों की बात की जाए तो झांसी इस मामले में सबसे ऊपर (Jhansi On Top) है.

देशभर की रैकिंग के हिसाब से बड़े शहरों में लखनऊ 26वें, वाराणसी 27वें और छोटे शहरों में झांसी 34वें पायदान पर रहा. केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने दो श्रेणियों में इसका सर्वे कराया. एक दस लाख से ज्यादा की आबादी वाले शहरों में और दूसरा दस लाख से कम आबादी वाले शहरों में. सूचकांक में कुल 111 शहरों की रैंकिंग जारी की गई.

चार संकेतकों के आधार पर आकलन
इन शहरों में किए गए सर्वे के लिए चार संकेतकों के आधार पर जांचा गया. इसमें जीवन की गुणवत्ता, आर्थिक क्षमता, विकास की स्थिरता और नागरिकों की समझ को आधार बनाया गया. इसी तरह के सर्वे में 111 शहरों के 32.2 लाख लोगों की राय जानी गई.

यूपी के ये हैं 14 शहर
लखनऊ, वाराणसी,कानपुर, गाजियाबाद, प्रयागराज, आगरा, मेरठ, बरेली, झांसी, मुरादाबाद, रायबरेली,सहारनपुर, अलीगढ़, रामपुर.

केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स (ईओएलआई), 2020 और नगर पालिका प्रदर्शन सूचकांक (एमपीआई), 2020  की अंतिम रैंकिंग जारी की. केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने दो कैटेगरी में इसका सर्वे (Survey) कराया था. पहला 10 लाख से ज्यादा की आबादी वाले शहरों का सर्वे और दूसरा 10 लाख से कम आबादी वाले शहर इसमें शामिल  किए गए थे.

ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स 2020 की उन शहरों के लिए घोषणा की गई जिनकी जनसंख्या दस लाख से अधिक और दस लाख से कम है. साल 2020 में आयोजित मूल्यांकन प्रक्रिया में 111 शहरों ने भाग लिया. विश्लेषण में इन शहरों को 10 लाख से अधिक जनसंख्या वाले शहरों और 10 लाख से कम आबादी वाले शहरों के रूप में स्मार्ट सिटी कार्यक्रम के तहत सभी शहरों के साथ श्रेणीबद्ध किया गया. 

10 लाख से अधिक और कम आबादी वाले शहर
10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों की श्रेणी में बेंगलुरु सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले शहर के रूप में उभरा, इसके बाद पुणे, अहमदाबाद, चेन्नई, सूरत, नवी मुंबई, कोयंबटूर, वडोदरा, इंदौर और ग्रेटर मुंबई का स्थान रहा. 10 लाख से कम आबादी वाली श्रेणी में शिमला ईज ऑफ लिविंग में सर्वोच्च स्थान पर रहा, इसके बाद भुवनेश्वर, सिलवासा, काकीनाडा, सलेम, वेल्लोर, गांधीनगर, गुरुग्राम, दावणगेरे, और तिरुचिरापल्ली रहे.

दस लाख से कम आबादी वाली श्रेणी में, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद शीर्ष पर
इसी प्रकार ईओएलआई इंडेक्स की तरह, एमपीआई 2020 के तहत मूल्यांकन ढांचे में जनसंख्या के आधार पर नगरपालिकाओं को दस लाख से अधिक जनसंख्या वाली नगरपालिका और 10 लाख से कम आबादी वाले नगरपालिकाओं में श्रेणीबद्ध किया गया. इंदौर सबसे अधिक रैंक वाली नगरपालिका के रूप में उभरा है, इसके बाद सूरत और भोपाल का स्थान रहा है. दस लाख से कम आबादी वाली श्रेणी में, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद शीर्ष स्थान पर रही, इसके बाद तिरुपति और गांधीनगर का स्थान रहा.

एमपीआई द्वारा 111 नगरपालिकाओं (दिल्ली का अलग से एनडीएमसी और 3 नगर निगमों के लिए मूल्यांकन किया गया) की पांच वर्टिकलों में क्षेत्रवार किए गए प्रदर्शन की जांच की गई. इन पांच वर्टिकलों में कुल मिलाकर 20 क्षेत्र और 100 संकेतक शामिल हैं. एमपीआई के तहत 5 वर्टिकल हैं- सेवाएं, वित्त, नीति, प्रौद्योगिकी और शासन.

जीवन की गुणवत्ता और शहरी विकास के लिए विभिन्न पहलों के प्रभाव का आकलन
ईज ऑफ लिविंग इंडेक्स (ईओएलआई) एक मूल्यांकन उपकरण है जो जीवन की गुणवत्ता और शहरी विकास के लिए विभिन्न पहलों के प्रभाव का आकलन करता है. यह जीवन की गुणवत्ता, शहर की आर्थिक क्षमता, स्थिरता और लचीलापन के आधार पर देश भर के प्रतिभागी शहरों की व्यापक समझ उपलब्ध कराता है. इस मूल्यांकन में सिटीजन पर्सेप्शन सर्वे (सीपीएस) के माध्यम से नगर के प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई गई सेवाओं के बारे में नागरिकों के दृष्टिकोण भी शामिल हैं.

शीर्ष दस रैंक वाले शहरों का विवरण नीचे दिया गया है. इस लिंक के भी देखें पूरी लिस्ट https://eol.smartcities.gov.in

अब स्कूलों में मिलेगी ऑनलाइन नियुक्ति, इन टीचरों को मिलेगी वरीयता

WATCH LIVE TV

Trending news