UP: बाराबंकी में दुष्कर्म पीड़िता ने लगाई फांसी, पुलिस बोली- चल रही है मामले की जांच

एसपी ने बताया कि पुलिस जांच में सामने आया है कि दो लोगों ने मृतका और उसकी मां पर एक गाड़ी के फाइनेंस को लेकर जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया था. इसकी पेशबंदी में मृतका की मां ने उन्हीं लोगों पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया है.

UP: बाराबंकी में दुष्कर्म पीड़िता ने लगाई फांसी, पुलिस बोली- चल रही है मामले की जांच
मृतका की मां का आरोप है कि कॉलेज से लौटने के दौरान शिवपल्टन और लेखपाल शिवकुमार ने रेप किया था.

बाराबंकी: यूपी के बाराबंकी में एक दुष्कर्म पीड़िता के आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि करीब चार महीने पहले एलएलबी की छात्रा ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था. वहीं, छात्रा ने बुधवार को अचानक आत्महत्या कर ली. उसका शव कमरे में फांसी से लटकता मिला. मृतका की मां ने पुलिस को तहरीर देते हुए दुष्कर्म आरोपियों पर प्रताड़ना के आरोप से परेशान होकर खुदकुशी करने की बात कही है. मृतका की मां ने आरोप लगाया कि आरोपी लेखपाल दबंग है और इस मामले में उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई थी. वहीं, पुलिस का कहना है कि मृतका की मां पर जालसाजी का मुकदमा दर्ज किया गया था. इसकी पेशबंदी में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया गया है. लेकिन, अभी तक ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं.

मामला जहांगीराबाद थाना क्षेत्र से जुड़ा है. जहां टिकैतनगर थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली युवती बाराबंकी के एक लॉ कॉलेज से एलएलबी की पढ़ाई कर रही थी. इसके साथ एक वकील के यहां प्रैक्टिस भी करती थी. वह अपनी मौसी के यहां पिछले आठ महीने से रह रही थी. बीते बुधवार की सुबह छात्रा का कमरा नहीं खुलने पर परिजनों ने कमरे में झांक कर देखा तो, उसका शव दुपट्टे से लटका हुआ था.

मृतका की मां का आरोप है कि कॉलेज से लौटने के दौरान शिवपल्टन और लेखपाल शिवकुमार ने रेप किया था. आरोपी लेखपाल दबंग है और उस पर पहले भी कई मामले दर्ज हैं. पुलिस में पहुंच के चलते पहले उनका केस नहीं दर्ज हुआ था. बाद में कोर्ट के ऑर्डर पर मुकदमा दर्ज किया गया लेकिन, कोई गिरफ्तारी नहीं हुई. आरोपी सुलह के लिए लगातार युवती पर दबाव बना रहे थे. आरोपियों की प्रताड़ना से परेशान होकर छात्रा ने खुदकुशी की है.

परिजनों का आरोप है कि दो सितंबर को छात्रा अपने घर टिकैतनगर जा रही थी. बस के इंतजार में खड़ी युवती को शिव कुमार और शिव पल्टन ने अपनी गाड़ी में लिफ्ट देकर घर ले जाने की बात कही. इस दौरान उन्होंने युवती के साथ रास्ते में दुष्कर्म किया. जिसकी शिकायत पुलिस में की गई. उसके बाद कोर्ट में केस किया गया. आरोपियों ने सांठगांठ करके उल्टा लड़की पर ही जालसाजी का आरोप लगाकर शिकायत दर्ज करा दी और सुलह का दबाव बनाने लगे. इसी दबाव के चलते लड़की ने आत्महत्या कर ली.

इस मामले में बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने बताया कि मृतका के पिता ने पोस्टमार्टम से पहले एक लिखित तहरीर दी थी. उनकी बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है और उन्हें किसी पर शक नहीं है. उसके बाद फिर मृतका की मां ने तहरीर दी कि दुष्कर्म आरोपी उनकी लड़की को परेशान कर रहे थे. जिसके चलते उसने फांसी लगा ली.

एसपी ने बताया कि पुलिस जांच में सामने आया है कि दो लोगों ने मृतका और उसकी मां पर एक गाड़ी के फाइनेंस को लेकर जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया था. इसकी पेशबंदी में मृतका की मां ने उन्हीं लोगों पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया है. हालांकि, अभी तक की जांच में ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है. मामले की जांच चल रही है. जो भी तथ्य सामने आएंगे, कार्रवाई की जाएगी.