भारी बर्फबारी के बीच केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्य रूका, 8 फीट तक बर्फ जमी

केदारनाथ धाम में पिछले चार दिनों से लगातार रुक-रुक कर बर्फबारी हो रही है. जिस कारण धाम में 8 फीट तक बर्फ जम चुकी है और तापमान माइनस 7 से 12 डिग्री तक पहुंच गया है.

भारी बर्फबारी के बीच केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्य रूका, 8 फीट तक बर्फ जमी
केदारनाथ धाम में बर्फबारी का दौर जारी, पुनर्निर्माण कार्य पड़ा ठप

रुद्रप्रयाग:  समुद्रतल से 3 हजार 584 मीटर की ऊंचाई पर स्थित भगवान केदारनाथ के धाम में चार दिनों से भारी बर्फबारी का दौर जारी है. ऐसे में पुनर्निर्माण रोक दिया गया है. बर्फबारी की वजह से यहां मजदूरों और कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं.

दरअसल, धाम में पिछले चार दिनों से लगातार रुक-रुक कर बर्फबारी हो रही है. जिससे अब तक धाम में 8 फीट तक बर्फ जमा हो चुकी है और तापमान माइनस 7 से 12 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. वहीं, पुनर्निर्माण कार्य में लगे 12 मजूदर धाम छोड़कर सोनप्रयाग जा चुके हैं जबकि 11 मजूदर अभी भी धाम में बर्फबारी रुकने का इंतजार कर रहे हैं.

बता दें कि वर्ष 2013 की आपदा के बाद से केदारनाथ धाम में पुनर्निर्माण के कार्य चल रहा है, जो बर्फबारी के कारण अब ठप हो गया है.

धाम में इन दिनों शंकराचार्य समाधि स्थल घाट निर्माण एवं तीर्थ पुरोहितों के भवनों का द्वितीय चरण का कार्य चल रहा है, जो अब बर्फबारी के कारण रूक गया है. धाम में रह रहे वुड स्टोन कंपनी के मजदूर खासी दिक्कतों का सामना कर रहे हैं. मजदूरों की दिक्कतों का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्हें पानी जोकि बर्फ बन चुका है उसे पिघलाकर पीना पड़ रहा है. साथ ही बर्फबारी की वजह से बिजली संचार की सेवाएं भी ठप पड़ गई हैं.