close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BHU में रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल का तीसरा दिन, इमरजेंसी सेवाएं बंद करने की चेतावनी

रेजीडेंट के समर्थन में थोड़ी देर बैठने के बाद सीनियर डॉक्टरों के भी चैंबर से चले जाने से दूर-दराज से मरीज लेकर आए तीमारदारों को लौटना पड़ रहा है. उधर रेजिडेंट डॉक्टरों की तरफ से चेतावनी दी गई है कि अगर 48 घंटे में मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया तो इमरजेंसी सेवाएं भी बंद कर दी जाएगीं.

BHU में रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल का तीसरा दिन, इमरजेंसी सेवाएं बंद करने की चेतावनी
फोटो साभार- ट्वीटर

वाराणसी: बीएचयू (BHU) में रेजिडेंट डॉक्टरों (Resident doctors) की हड़ताल का तीसरा दिन है. रविवार को ड्यूटी के दौरान दो जूनियर रेजिडेंट की पिटाई के विरोध में अस्पताल और ट्रामा सेंटर के रेजिडेंट हड़ताल (Strike) पर हैं. हड़ताल के कारण व्यवस्थाएं पूरी तरह से ध्वस्त हो गईं हैं. अस्पताल प्रशासन ने रेजिडेंट डॉक्टरों से बातचीत की, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला.

डॉक्टरों के हड़ताल पर चलते मरीजों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. बीएचयू में रोजाना न सिर्फ यूपी के अलग-अलग जिलों से बल्कि पड़ोसी राज्यों से भी हजारों की संख्या में मरीज पहुंचते है, जिन्हें हड़ताल की वजह से बिना इलाज के वापस लौटना पड़ रहा है तो वहीं, जो मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, उन्हें भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. 

रेजीडेंट के समर्थन में थोड़ी देर बैठने के बाद सीनियर डॉक्टरों के भी चैंबर से चले जाने से दूर-दराज से मरीज लेकर आए तीमारदारों को लौटना पड़ रहा है. उधर रेजिडेंट डॉक्टरों की तरफ से चेतावनी दी गई है कि अगर 48 घंटे में मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया तो इमरजेंसी सेवाएं भी बंद कर दी जाएगीं.

आपको बता दें कि रविवार को साथी की पिटाई से नाराज रेजिडेंट ने सुबह छह बजे से ही वार्ड, ऑपरेशन थियेटर में अपनी सेवाएं ठप कर दीं हैं. रेजिडेंट डॉक्टरों की मांग है कि जब-तक दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होती तब-तक हड़ताल जारी रहेगी.