NH-125 पर दौड़ा 'मौत' का डंपर, मां पूर्णागिरी के दर्शन करने जा रहा था जत्था, 11 की मौत

बरेली के करीब 250 श्रद्धालु मां पूर्णागिरी के दर्शन करने पैदल जा रहे थे, तभी बिचई गांव के पास पीछे से आ रहा डंपर श्रद्धालुओं का रौंदता हुआ निकल गया.

NH-125 पर दौड़ा 'मौत' का डंपर, मां पूर्णागिरी के दर्शन करने जा रहा था जत्था, 11 की मौत
हादसे में अब तक 11 लोगों की मौत,15 लोग घायल बताए जा रहे हैं.

नई दिल्ली/चंपावत:  उत्तराखंड के चम्‍पावत जिले में टनकपुर के पास शुक्रवार (18 मई) तड़के एक दर्दनाक हादसा हुआ. दर्दनाक सड़क हादसे में 11 श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि 15 श्रद्धालुओं का इलाज जारी है. जानकारी के मुताबिक, बरेली की नवाबगंज तहसील के करीब 250 श्रद्धालु मां पूर्णागिरी के दर्शन के लिए पैदल जा रहे थे, तभी बिचई गांव के पास पीछे से आ रहा डंपर श्रद्धालुओं का रौंदता हुआ निकल गया. घटना के बाद इलाके में चीख-पुकार मच गई. राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी, जिसने बाद घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया. 

टनकपुर के लिए रवाना हुआ था जत्था
पुलिस ने बताया कि तड़के पांच बजे के आस-पास ये हादसा हुआ. मृतकों में अधिकांश लोग नवाबगंज इलाके के हैं. ये हादसा उस समय हुआ, जब मां पूर्णागिरी दर्शन करने जा रहे श्रद्धालुओं के एक जत्थे को बेकाबू डंपर ने कुचल दिया. हादसे की जानकारी मिलते ही सेना की टीम के साथ ही बचावकर्मी भी मदद के लिए पहुंच गए.   

पांच लोगों की हालत नाजुक
हादसे में घायल 15 लोगों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है, जिसमें से पांच की हालत नाजुक बताई जा रही है. वहीं मामूली रूप से घायल श्रद्धालुओं को उनके घरों के लिए रवाना कर दिया गया है. 

मृतकों की हुई पहचान 
पुलिस ने बताया कि हादसे में सभी मृतकों की पहचान कर ली गई है और उनके परिजनों को इसकी सूचना दे दी गई है. सभी श्रद्धालु यूपी बरेली जिले के नवाबगंज तहसील से पैदल यात्रा पर निकले थे. 

डीएम ने की आर्थिक मदद की घोषणा
दर्दनाक हादसे की सूचना के बाद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचें और घटना का जायजा लिया. जिला अधिकारी ने घटना की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं. साथ ही मृतकों के परिजनों को 50 हजार और घायलों को 25 हजार की आर्थिक मदद की घोषणा की गई है.