साध्वी प्राची का बड़ा बयान, 6 दिसंबर को होगा राम मंदिर का शिलान्यास

साध्वी प्राची ने कहा कि 6 दिसंबर को ही बाबरी मस्जिद को ढहाया गया था, इसलिए उसी दिन निर्माण काम शुरू किया जाएगा.

साध्वी प्राची का बड़ा बयान, 6 दिसंबर को होगा राम मंदिर का शिलान्यास
राम मंदिर निर्माण नहीं होने की वजह से संत समाज में बहुत गुस्सा है.

नई दिल्ली: दिल्ली में संतों के समागम में विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची ने कहा कि 6 दिसंबर को अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास किया जाएगा. 6 दिसंबर के दिन ही बाबरी मस्जिद को ढहाया गया था, इसलिए 6 दिसंबर को ही शिलान्यास किया जाएगा. उन्होंने कहा कि अयोध्या के अंदर हिंदुस्तान के हिंदुओं को बुलाया जाए और राम मंदिर निर्माण की घोषणा की जाए. राम मंदिर के लिए किसी की जरूरत नहीं है, यह काम खुद-ब-खुद हो जाएगा.

बता दें, सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम मंदिर मामले की सुनवाई जनवरी तक के लिए टाल दी गई है जिसकी वजह से संतों में गुस्सा है. कोर्ट के फैसले के बाद संतों के धीरज का बांध टूट गया है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से राम मंदिर विवाद का हल निकलने की अब कोई उम्मीद नहीं बची है. 

महंत गिरि ने कहा कि मैं मुस्लिम भाइयों से अपील करता हूं कि वे सामने आएं और कहें कि भगवान राम का जन्म वहीं पर हुआ था, इसलिए यहां मंदिर का निर्माण होना चाहिए. यह आस्था का विषय है. अगर, राम मंदिर का निर्माण अब नहीं हुआ तो कभी नहीं हो पाएगा. बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि उसकी तरफ से कोई पहल नहीं की जा रही है.

Sadhvi Prachi said Ram Mandir Foundation stone laid on 6 december
महंत राम विलास वेदांती.

इस मामले को लेकर राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत राम विलास वेदांती ने कहा कि दिसंबर महीने में राम मंदिर निर्माण का काम शुरू कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसके लिए हम सरकार के अध्यादेश का इंतजार नहीं कर सकते. निर्माण का काम आपसी सहमति से होगा. अयोध्या में राम मंदिर बनेगा तो लखनऊ में मस्जिद का निर्माण किया जाएगा.

बता दें, दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आज से दो दिनों तक धर्मादेश का आयोजन किया जा रहा है. संतों के समागम में राम मंदिर के मुद्दे पर 3 और 4 नवंबर को चर्चा होगी. इस कार्यक्रम में पूरे देश से 500 से ज्यादा संत पहुंच रहे हैं. सभी मिलकर राम मंदिर के निर्माण को लेकर चर्चा करेंगे. ऐसी उम्मीद है कि राम मंदिर के लेकर संत समाज किसी बड़े आंदोलन का ऐलान कर सकता है.

इस पूरे मामले पर देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर राम मंदिर का निर्माण होता है तो स्वाभाविक है सबको खुशी होगी.