स्वामी परमहंस आज करेंगे चिता पूजन, राम मंदिर निर्माण का ऐलान न होने पर दी आत्मदाह की चेतावनी

आज दोपहर दो बजे तपस्वी छावनी में वो चिता पूजन करेंगे. आपको बता दें राम मंदिर निर्माण को लेकर वो सात दिन का आमरण अनशन भी कर चुके हैं. 

स्वामी परमहंस आज करेंगे चिता पूजन, राम मंदिर निर्माण का ऐलान न होने पर दी आत्मदाह की चेतावनी
फाइल फोटो

नई दिल्ली/अयोध्या: अयोध्या में तपस्वी छावनी मंदिर के महंत स्वामी परमहंस दास शुक्रवार (23 नवंबर) को चिता पूजन करेंगे. स्वामी परमहंस दास ने चेतावनी दी है कि सरकार अगर 6 दिसंबर तक ये नहीं बताएगी कि राम मंदिर का निर्माण कार्य कब शुरू होगा, तो वो 6 दिसंबर को आत्मदाह कर लेंगे. आज (शुक्रवार) दोपहर दो बजे तपस्वी छावनी में वो चिता पूजन करेंगे. आपको बता दें राम मंदिर निर्माण को लेकर वो सात दिन का आमरण अनशन भी कर चुके हैं. 

परमहंस अयोध्या में मोदी सरकार द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने की मांग करते हुए अक्टूबर माह में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे थे. एक हफ्ते की भूख हड़ताल के बाद संत परमहंस की तबियत बिगड़ने लगी थी, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया और लखनऊ के पीजीआई में भर्ती कराया गया था. यहां पहले इलाज कराने से मना करने के बाद बहुत समझाने से वह इलाज कराने के लिए तैयार हुए. 

ये भी पढ़ें: संत परमहंस दास को जूस पिलाकर सीएम योगी ने तुड़वाया अनशन

इसके बाद सीएम योगी ने उनसे मुलाकात की और जूस पिलाकर उनका अनशन तोड़वाया था. आपको बता दें कि राम मंदिर निर्माण को लेकर अयोध्या के संत परमहंस ने 1 तारीख से आमरण अनशन का ऐलान किया था. अयोध्या में राम मंदिर के लिए आमरण अनशन पर बैठे महंत स्वामी परमहंस दास ने चार अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा था. इस पत्र में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से अयोध्या आकर श्री रामलला के दर्शन करने की मांग की गई थी. पीएम मोदी को भेजे जाने वाले इस पत्र में अयोध्या के कई संतों ने अपने हस्ताक्षर किए थे. पत्र में राम मंदिर निर्माण की समय सीमा की मांग भी की गई थी.