close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राहुल के इस्‍तीफे के बाद कांग्रेस में खालीपन, उनका अध्‍यक्ष पद छोड़ना बड़ी समस्‍या: सलमान खुर्शीद

सलमान खुर्शीद ने कहा कि हमारे नेता छोड़ गए. इस कारण लोकसभा चुनाव में हार पर मंथन के लिए एकजुट नहीं हो सके. हार के कारणों का आत्‍मनिरीक्षण नहीं कर सके.

राहुल के इस्‍तीफे के बाद कांग्रेस में खालीपन, उनका अध्‍यक्ष पद छोड़ना बड़ी समस्‍या: सलमान खुर्शीद

नई दिल्‍ली: कांग्रेस (Congress) के वरिष्‍ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कांग्रेस के संकट पर कहा कि राहुल गांधी के इस्‍तीफा देने के बाद पार्टी में खालीपन की स्थिति है. उनका अध्‍यक्ष पद छोड़ना कांग्रेस की बड़ी समस्‍या है. हमारे नेता छोड़ गए. इस कारण लोकसभा चुनाव में हार पर मंथन के लिए एकजुट नहीं हो सके. हार के कारणों का आत्‍मनिरीक्षण नहीं कर सके. न्‍यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस (AP) के मुताबिक सलमान खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस का संघर्ष इस कदर है कि महाराष्‍ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनावों में भी जीतने की संभावना नहीं है.

सिर्फ इतना ही नहीं, पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि ये सिर्फ आने वाले विधानसभा चुनावों की बात नहीं है बल्कि कांग्रेस का संकट ऐसा है कि इस मौके पर वह अपने भविष्‍य को लेकर ही सुनिश्चित नहीं है. न्‍यूज एजेंसी AP के मुताबिक सलमान खुर्शीद ने कहा कि कांग्रेस से लोग इसलिए बाहर निकल रहे हैं क्‍योंकि लोकसभा चुनावों में हार के बाद उससे उबरने में इसने लंबा वक्‍त लिया. 23 मई को लोकसभा चुनावों के नतीजे आए थे. 

सलमान खुर्शीद ने कहा कि कुछ लोग ऐसे हैं जो जी-जान से कांग्रेस के हैं. जिनको पार्टी ने सब कुछ दिया है वो भी पार्टी से चले गए-दुख होता है. इतनी शानदार पार्टी आज कठिन परिस्थितियों में है. समीझा करनी होगी...आखिर हम यहां क्यों पहुंचे. हमें विश्वास भी है कि हम लौटेंगे. सलमान खुर्शीद ने कहा कि पार्टी को तुरंत कुछ कदम उठाने होंगे. हमारे नेता राहुल गांधी हमें छोड़ गए. बहुत लोगों ने विनती की थी अध्यक्ष बने रहें. राहुल के साथ आज भी नेता और कार्यकर्ता जुड़े हैं.

LIVE TV

इस बीच पिछले दिनों एक अहम फैसले में कांग्रेस पार्टी (congress) ने फैसला किया है कि वह अपने कार्यकर्ताओं को बीजेपी के राष्ट्रवाद का मुकाबला करने के लिए ट्रेनिंग देगी. इसके लिए कांग्रेस पार्टी राष्ट्रीय स्तर, राज्य स्तर, जिला स्तर और ब्लॉक स्तर तक के कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग देगी. पिछले महीने दिल्ली में कांग्रेस के सभी प्रदेश अध्यक्षों और कांग्रेस विधायक दल के नेताओं के साथ हुई बैठक में ही ये रणनीति बनाई गई. ट्रेनिंग के दौरान कांग्रेस के नेताओं के आज़ादी के आंदोलन में योगदान और इंदिरा गांधी के दौर में देश का मान बढ़ाने के लिए पाकिस्तान का बंटवारा करने से लेकर तमाम बातों का जिक्र किया जाएगा.