संभल पुलिस ने ठग गिरोह का किया पर्दाफाश, ऐसे लोगों को बनाते थे अपना शिकार

एसपी चक्रेश मिश्र ने बताया कि ठगी के आरोप में गिरफ्तार आरोपी गिरोह बनाकर लोगों को फर्नीचर का टेंडर दिलाने का झांसा देकर ठगने का काम लंबे समय से कर रहे थे.

संभल पुलिस ने ठग गिरोह का किया पर्दाफाश, ऐसे लोगों को बनाते थे अपना शिकार
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

सुनील सिंह/ संभल: उत्तर प्रदेश के संभल जिले की पुलिस ने एक अंतर्जनपदीय ठग गिरोह का पर्दाफाश किया है. इस गिरोह के तीन शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से ठगी का 7 लाख 50 हजार कैश भी बरामद किया है. यह गिरोह फर्नीचर का टेंडर दिलाने का झांसा देकर लोगों से ठगी करते थे. 

ऐसे करते थे ठगी 
एसपी चक्रेश मिश्र ने बताया कि ठगी के आरोप में गिरफ्तार आरोपी गिरोह बनाकर लोगों को फर्नीचर का टेंडर दिलाने का झांसा देकर ठगने का काम लंबे समय से कर रहे थे. आरोपियों ने 4 महीने पहले हयात नगर थाना इलाके के रसूल पूर गांव के इसरार को फर्नीचर का बड़ा टेंडर दिलाने का झांसा देकर 8 लाख कैश ठग लिया था. इसरार से ठगी के बाद आरोपी गायब हो गए थे. 

सावधान: कहीं आपने भी तो नहीं लिया UP के इन 8 विश्वविद्यालयों में एडमिशन, UGC ने किया फर्जी घोषित, देखें लिस्ट

पीड़ित ने हयात नगर थाने में दर्ज कराया था केस 
चक्रेश मिश्र ने आगे बताया कि पीड़ित इसरार ने हयात नगर थाने में ठगी का केस दर्ज कराया था. पुलिस केस दर्ज करने के बाद ठगों की गिरफ्तारी के लगातार प्रयास कर रही थी. कल सोमवार की शाम पुलिस को सूचना मिली की ठग गिरोह इलाके में एक स्थान पर किसी को ठगने की योजना बना रहा हैं. सूचना मिलने के बाद पुलिस ने ठग गिरोह की घेराबंदी कर तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने गिरफ्तार ठगों की तलाशी लेकर लोगों से ठगा गया 7 लाख 50 हजार कैश भी बरामद किया है.गिरफ्तार आरोपी चरण सिंह उर्फ सलीम और शिवम बुलंद शहर जिले के रहने वाले हैं, जबकि तीसरा आरोपी अंकित हापुड जनपद का रहने बाला है. पुलिस गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेजे जाने के लिए कानूनी कार्रवाई कर रही है.

अलीगढ़: 8 साल से अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, फर्जी आधार कार्ड बरामद

ठगी की अन्य वारदातों को तलाशने में जुटी पुलिस 
ठगी के आरोप में गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वें गैंग बनाकर लोगों को सरकारी और प्राइवेट कंपनियों में फर्नीचर का टेंडर दिलाने का झांसा देते थे. अधिक मुनाफे के लालच में लोग आसानी से उनके झांसे में आ जाते थे. झांसे में लेने के बाद टेंडर के नाम पर बड़ी रकम ठग ली जाती थी. गैंग अब तक कई जिलों में लोगों का अपना शिकार बना चुका हैं. फिलहाल पुलिस ठग गिरोह के 3 ठगों की गिरफ्तारी के बाद ठग गैंग द्वारा अंजाम दी गई ठगी की अन्य वारदातों को खंगालने में जुटी है. 

Viral Video: सिंदूर दान से पहले दुल्हन की हरकत देख, सर पकड़ कर बैठ गया दूल्हा

WATCH LIVE TV