close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छात्रवृत्ति घोटाला: कांग्रेस विधायक के भाई समेत 3 अरेस्ट, करोड़ों की धोखाधड़ी का आरोप

एसआईटी की पड़ताल में सामने आया है कि मंगलौर में के टेकवर्ड्स वली ग्रामोद्योग विकास संस्थान ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस सिर्फ कागजों में चल रहा था. 

छात्रवृत्ति घोटाला: कांग्रेस विधायक के भाई समेत 3 अरेस्ट, करोड़ों की धोखाधड़ी का आरोप
प्रतीकात्मक तस्वीर

हरिद्वार: छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआईटी की टीम ने तीन लोगों का गिरफ्तार किया है. धोखेधड़ी में घिरे तीन लोगों में मंगलौर विधायक काजी निजामुद्दीन के भाई भी शामिल है, जिसे पुलिस ने मंगलावर को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए इन तीनों लोगों पर दो करोड़ 60 लाख की धोखाधड़ी का आरोप है. 

जानकारी के मुताबिक, एसआईटी की पड़ताल में सामने आया है कि मंगलौर में के टेकवर्ड्स वली ग्रामोद्योग विकास संस्थान ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस सिर्फ कागजों में चल रहा था. संस्थान के अध्यक्ष, सचिव और कोषाध्यक्ष को एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया गया. आपको बता दें कि इससे पहले चार कॉलेजों को दो लोगों को एसआईटी गिरफ्तार कर चुकी है. 

जांच में पता चला कि साल 2012-13 से 2014-15 के बीच समाज कल्याण विभाग ने अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति के तौर पर करीब 2.60 करोड़ रुपये संस्थान व छात्र छात्राओं के बैंक खातों में भेजे हैं. एसआईटी ने छात्र-छात्राओं व संस्थाओं के बारे में जानकारी जुटाते हुए यह पाया कि संस्थान वर्ष 2015 से बंद पड़ा है. इससे पहले भी शैक्षिक गतिविधियां शून्य रही हैं. 

एसआईटी ने जब कॉलेज का भौतिक सत्यापन किया तो कॉलेज के स्थान पर खंडहर मिला. संस्थान को सिर्फ कागजों में चलाया गया और छात्रवृत्ति के पैसों को आपस में ही बांट लिया गया. छात्रवृत्ति घोटाले में एसआईटी ने 21 दिन में हरिद्वार के तीसरे निजी संस्थान के खिलाफ कार्रवाई की है. एसआईटी ने तीनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया. संस्थान से जुड़े अन्य लोगों की भूमिका की जांच भी की जा रही है.