close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बंजर पड़ी जमीन से उठने लगा धुआं और निकलने लगी आग, हैरान हुए लोग बोले- 'ऐसा मंजर नहीं देखा'

मंडल वन अधिकारी (दक्षिण खीरी) समीर कुमार ने भी इसे प्राकृतिक घटना करार दिया और दुबे जैसा ही तर्क दिया कि भूमि के नीचे खाद-मिट्टी की पर्त में आग लगी है, जिससे भूमि की दरारों से धुआं उठ रहा है.

बंजर पड़ी जमीन से उठने लगा धुआं और निकलने लगी आग, हैरान हुए लोग बोले- 'ऐसा मंजर नहीं देखा'
गांव के लोगों ने इसे प्रकृति का चमत्कार बताया.

लखीमपुर खीरी: दक्षिण खीरी वन मंडल में मोहम्मदी के जंगलों में अनुपजाऊ भूमि के नीचे आग लगने और वहां से धुआं उठता देख आसपास के गांवों में अफरा-तफरी मच गई. बेला पहाडा और मुदा गालिब गांवों के लोग हैरान हो गए कि भूमि की दरारों से धुआं कैसे उठ रहा है. मुदा गालिब गांव के 72 वर्षीय हुकुम सिंह ने कहा कि उन्होंने ऐसा मंजर जीवन में कभी नहीं देखा. 

सिंह ने आशंका जतायी कि आग से उनके खेतों में खडी फसल को नुकसान हो सकता है. गांव के ही 75 वर्षीय भाईलाल ने इसे प्रकृति का चमत्कार बताया. गांववासियों ने इस आशंका के चलते वन एवं प्रशासन अधिकारियों को जानकारी दी कि आग कहीं खेतों और आसपास के जंगलों में ना फैल जाए.

मोहम्मदी के तहसीलदार विकास दुबे ने स्थानीय वन अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचकर जायजा लिया. दुबे ने बताया कि यह प्राकृतिक घटना है, जिसमें भूमि के नीचे की खाद मिट्टी की पर्त में आग लग जाती है.

उन्होंने बताया कि जिस भूमि के नीचे आग लगी है, वह कई दशकों से बंजर पड़ी है. इस भूमि पर सूखी पत्तियां, टहनियां, अन्य जंगली अपशिष्ट पदार्थ काफी मात्रा में एकत्र हैं. इसी से जमीन के नीचे खाद-मिट्टी की पर्त बन गयी. इसमें आग लगने से भूमि के नीचे दरारों से धुआं उठता दिख रहा है.

मंडल वन अधिकारी (दक्षिण खीरी) समीर कुमार ने भी इसे प्राकृतिक घटना करार दिया और दुबे जैसा ही तर्क दिया कि भूमि के नीचे खाद-मिट्टी की पर्त में आग लगी है, जिससे भूमि की दरारों से धुआं उठ रहा है. कुमार ने बताया कि उन्होंने वन अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुंचकर पूरे क्षेत्र की खुदाई कराने को कहा है ताकि आग आसपास के जंगलों में ना फैलने पाये.