पाकिस्तान से लोहा ले शहीद हुआ देश का बेटा, आज सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

शहीद स्वतंत्र सिंह का परिवार सेना से जुड़ा रहा है. शहीद के पिता स्व. प्रेम सिंह रावत ने भी सेना में रह कर देश की सेवा की थी. यहां तक कि उनके दादा भी आर्मी में थे.

पाकिस्तान से लोहा ले शहीद हुआ देश का बेटा, आज सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

कपिल पनवर/कोटद्वार: जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तान के साथ लोहा लेते हुए गोलीबारी में शहीद हुए सूबेदार स्वतंत्र सिंह का आज सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार होगा. शहीद स्वतंत्र सिंह मूल रूप से पौड़ी जनपद के उड़ियारी गांव के रहने वाले हैं.

ये भी पढ़ें: प्रयागराज की सड़कों पर खड़े थे 'यमराज', बोले- "नियमों का पालन न किया तो ले जाऊंगा अपने साथ"

फरवरी में घर आने का किया था वादा
16वीं गढ़वाल राइफल के सूबेदार, 46 वर्षीय स्वतंत्र सिंह ने देश की रक्षा के लिए बलिदान दे दिया. उनके शहीद होने की खबर पर मां और पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है. शहीद स्वतंत्र सिंह अगस्त में ड्यूटी पर गए थे और फरवरी में घर आने वाले थे. लेकिन देश की सेवा से जरूरी उनके लिए कुछ नहीं था. 

उत्तराखंड का बेटा वीर जवान शहीद 
शहीद सूबेदार स्वतंत्र सिंह रावत अपने परिवार के साथ कोटद्वार से करीब 30 किमी दूर उडियारी में रहते थे. उनके चार बच्चे, पत्नी और एक बूढ़ी मां हैं. बीती गुरुवार शाम करीब 6 बजे सेना की ओर से परिजनों को उनके शहीद होने की खबर मिली थी. इसके बाद से घर और गांव में शोक का माहौल है. 

ये भी पढ़ें: ऐसे लोगों से कोरोना फैलने का ज्यादा खतरा, बचाव के लिए इन चीजों का रखें ध्यान

परिवार की पृष्ठभूमि सेना से जुड़ी है
शहीद स्वतंत्र सिंह का परिवार सेना से जुड़ा रहा है. शहीद के पिता स्व. प्रेम सिंह रावत ने भी सेना में रह कर देश की सेवा की थी. यहां तक कि उनके दादा भी आर्मी में थे. एसडीएम योगेश मेहरा और तहसीलदार विकास अवस्थी ने शुक्रवार दिन में उडयारी गांव पहुंचकर परिजनों को संभाला. शनिवार को उनके पैतृक गांव में पूरे राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा. 

WATCH LIVE TV