योगी के मंत्री ने पहले तो सरकारी कर्मचारी से पहना जूता, अब भगवान राम का सहारा लेकर कर रहे हैं इसे सही साबित

योगी के मंत्री ने पहले तो सरकारी कर्मचारी से पहना जूता, अब भगवान राम का सहारा लेकर कर रहे हैं इसे सही साबित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को विश्व योग दिवस पर प्रभारी मंत्रियों को अपने अपने नामित जिलों में रहने के निर्देश दिए थे. इसलिए शुक्रवार (21 जून) को दुग्ध विकास मंत्री व प्रभारी मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी शाहजहांपुर में योग दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए. 

योगी के मंत्री ने पहले तो सरकारी कर्मचारी से पहना जूता, अब भगवान राम का सहारा लेकर कर रहे हैं इसे सही साबित

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में आयोजित विश्व योग दिवस के कार्यक्रम में यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी को एक कर्मचारी ने अपने हाथों से जूता पहनाया. घटना का वीडियो जब वायरल हुआ और मामला सुर्खियों में आया तो मंत्री जी के सफाई देनी पड़ी. 

उन्होंने मामले पर सफाई देते हुए कहा है, 'कोई भैया, भतीजा या परिवार का व्यक्ति यदि हमें जूता पहना दे, तो ये तो हमारा वो देश है, जहां भगवान राम के खड़ाऊ रख के भरत जी ने 14 साल राज किया था, आपको तो इस बात की तारीफ करनी चाहिए.'

दरअसल, मामला तब सामने आया जब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने योग दिवस पर जिले के प्रभारी मंत्रियों को अपने-अपने जिलों के आधिकारिक कार्यक्रम में रहने के निर्देश दिए थे. दुग्ध विकास मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी शाहजहांपुर में योग दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए थे. उनके साथ पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद और डीएम अमृत त्रिपाठी भी थे.

 

योग शिवर खत्म होने के बाद मंत्री ने जूता पहनना था, लेकिन वह जूता पहनने के लिए नीचे नहीं झुक सके. यही वजह थी कि एक कर्मचारी ने उनके जूते उठाए और अपने हाथों से पहना दिए. जो व्यक्ति मंत्री को जूता पहनाते हुए दिखाई दे रहा है, वह सरकारी कर्मचारी बताया जा रहा है. कर्मचारी ने मंत्री के पैर में जूता पहनाया. बताया जा रहा है कि इसी दौरान मौके पर मौजूद किसी शख्स ने मंत्री को जूते पहनाते वक्त फोटो खींच लगी और उसे वायरल भी कर दिया.

Trending news