वसीम रिजवी ने गृह मंत्री शाह को लिखा पत्र, कहा- शिया समाज को भी दें संशोधन बिल में जगह

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि शिया समाज पर पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान सहित कई देशों जुल्म हो रहा है. 

वसीम रिजवी ने गृह मंत्री शाह को लिखा पत्र, कहा- शिया समाज को भी दें संशोधन बिल में जगह
वसीम रिजवी ने पत्र में लिखा है कि शिया समाज का शोषण लगभग 1400 वर्षों से लगातार मुस्लिम बहुसंख्यक सुन्नी समाज द्वारा पूरी दुनिया में किया जाता रहा है.

लखनऊ: लोकसभा में सोमवार को नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill 2019) पेश किया गया. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सदन के पटल पर नागरिकता संशोधन बिल पेश किया. इन सबके बीच शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Shia Central Waqf Board) के चेयरमैन वसीम रिजवी (Waseem Rizvi) ने इस बिल में शिया समाज को भी शामिल करने की मांग की है. वसीम रिजवी ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर कहा है कि पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान सहित सीरिया, सऊदी अरब और कीनिया जैसे देशों से आने वाले शिया समाज के लोगों को भी भारत की नागरिकता प्रदान की जाए.

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि शिया समाज पर पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान सहित कई देशों जुल्म हो रहा है. उन्होंने पत्र लिखा है कि शिया वर्ग मुस्लिम समाज का एक दुर्बल वर्ग है. जिन देशों में सुन्नी समाज बहुमत में है और शिया अल्पसंख्यक हैं. वहां उनके साथ अमानवीय कृत्य किए जा रहे हैं और उनकी हत्याएं शिया होने के कारण की जा रही हैं.

वसीम रिजवी ने पत्र में लिखा है कि शिया समाज का शोषण लगभग 1400 वर्षों से लगातार मुस्लिम बहुसंख्यक सुन्नी समाज द्वारा पूरी दुनिया में किया जाता रहा है और आज भी किया जा रहा है. उन्होंने लिखा कि आपसे अनुरोध है कि शिया समुदाय को जुल्म और ज्यादती से बचाने के लिए नागरिकता संशोधन विधेयक में इस वर्ग को भी शामिल करने की कृपा करें.

ये वीडियो भी देखें: