फर्जी डिग्री लगाकर बने थे टीचर, 10 शिक्षक हुए बर्खास्त, अब वसूला जाएगा वेतन

बीएसए अजय कुमार का कहना है कि एसआईटी के द्वारा जांच की गई थी. जिसमें जांच में फर्जी अंकतालिका पाए जाने पर सभी शिक्षकों को बर्खास्त किया गया है.

फर्जी डिग्री लगाकर बने थे टीचर, 10 शिक्षक हुए बर्खास्त, अब वसूला जाएगा वेतन
बीएसए ने बताया कि यह सभी लोग डॉक्टर भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के बीएड सत्र 2004-05 में फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी कर रहे थे. (प्रतीकात्मक फोटो)

राजकुमार दीक्षित/सीतापुर: यूपी के सीतापुर में बीएसए अजय कुमार ने बड़ी कार्रवाई की है. बीएसए अजय कुमार ने फर्जी अंकतालिका पर नौकरी कर रहे 10 शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया है. इतना ही नहीं बीएसए ने इन शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने सहित नियुक्ती तिथि से वेतन रिकवरी के भी आदेश दिए हैं. यह बर्खास्त सभी शिक्षक जनपद के अलग-अलग ब्लॉकों में तैनात थे. बीएसए के द्वारा यह बड़ी कार्रवाई एसआईटी जांच के बाद की गई है. यह सभी शिक्षक रामपुर मथुरा, बेहटा, परसेंडी, सिधौली मछरेहटा ब्लॉकों में तैनात थे.

बीएसए की इस कार्रवाई से शिक्षा महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. वहीं, बीएसए अजय कुमार का कहना है कि एसआईटी के द्वारा जांच की गई थी. जिसमें जांच में फर्जी अंकतालिका पाए जाने पर सभी शिक्षकों को बर्खास्त किया गया है. आगे इससे और भी बड़ी कार्रवाई की जाएगी. बीएसए अजय कुमार ने बताया कि यह सभी लोग डॉक्टर भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के बीएड सत्र 2004-05 में फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी कर रहे थे.