close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीतापुर: कमलेश तिवारी के परिजन बोले- 'जब CM योगी आएंगे तभी होगा अंतिम संस्कार'

लखनऊ पुलिस भारी सुरक्षा बलों के साथ उनके पैतृक आवास सीतापुर के महमूदाबाद कस्बे लेकर पहुंची. महमूदाबाद कस्बे में चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान व पीएसी के जवान तैनात हैं. 

सीतापुर: कमलेश तिवारी के परिजन बोले- 'जब CM योगी आएंगे तभी होगा अंतिम संस्कार'
कमलेश तिवारी के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

नई दिल्ली: कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari ) का शव को लेकर लखनऊ (Lucknow) पुलिस भारी सुरक्षा बलों के साथ उनके पैतृक आवास सीतापुर (Sitapur) के महमूदाबाद कस्बे लेकर पहुंची. सीतापुर पुलिस अधीक्षक एलआर कुमार ने भी पीएसी और पुलिस के जवानों की भारी संख्या में तैनाती कर रखी थी. महमूदाबाद कस्बे में चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान व पीएसी के जवान तैनात हैं. वहीं, कमलेश तिवारी के परिजनों ने अंतिम संस्कार (Funeral) से किया इनकार कर दिया है.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) जब तक नहीं आएंगे तब तक मृतक हिंदू नेता कमलेश तिवारी का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएंगा. कमलेश तिवारी की पत्नी ने कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो में आत्मदाह कर लूंगी. 

 

 

परिजनों ने BJP सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
कमलेश तिवारी के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. मृतक कमलेश तिवारी परिजनों ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं. मृतक के परिजनों ने बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी सरकार हिंदूवादी नेताओं की हत्या करा है. उन्होंने कहा कि कमलेश तिवारी को लगातार धमकी मिल रही थी. कई बार प्रशाशन से इसकी शिकायत की गई. धमकी मिलने के बाद सुरक्षा बढ़ाने की बजाए घटा दी गई. उन्होंने शासन और प्रशासन दोनों को कमलेश की हत्या के लिए जिम्मेदार बताया है.

कमलेश तिवारी हत्याकांड: जांच के लिए SIT गठित, CM योगी आदित्यनाथ ने सख्त तेवर अपनाए

सीतापुर में आज भी बाजार बंद
कमलेश तिवारी की हत्या के बाद महमूदाबाद कस्बे की सभी दुकानें बीते शुक्रवार को बंद रही थी. आज भी सीतापुर जिले में हिंदूवादी संगठन व व्यापारी कमलेश तिवारी की हत्या के विरोध में बाजार बंद रखेंगे. 

एसआईटी गठित
वहीं, हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड की जांच के लिए डीजीपी ओपी सिंह ने एसआईटी का गठन किया है. आईजी लखनऊ एसके भगत के नेतृत्व में गठित एसआईटी में एएसपी क्राइम लखनऊ दिनेश पुरी व एसटीएफ के डिप्टी एसपी पीके मिश्रा को शामिल किया गया है. 

CM योगी ने मांगी रिपोर्ट
चुनावी दौरे से लौटने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर सख्त तेवर अपनाए. उन्होंने इस मामले में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और डीजीपी ओपी सिंह से तत्काल विस्तृत रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए.

रक्षामंत्री ने दिए DGP को निर्देश
इधर, लखनऊ से सांसद व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कमलेश तिवारी की हत्या को लेकर डीजीपी और डीएम से फोन पर बात की और बिना देर किए आरोपियों को पकड़ने के और उचित कार्रवाई करने निर्देश दिए हैं.

बिजनौर के दो मौलानाओं पर 302 का मुकदमा दर्ज
कमलेश तिवारी हत्या मामले में पुलिस ने बिजनौर के दो मौलानाओं मोहम्मद मुफ़्ती नसीम काज़मी और इमाम मौलाना अनवारुल हक के खिलाफ 302 यानी हत्या का मुकदमा दर्ज किया है. आरोपियों पर 2016 में कमलेश का सिर कलम करने पर 1.5 करोड़ का ईनाम रखने का आरोप है.