Rahul Gandhi पर Smriti Irani का करारा हमला, कहा- आखिर उन्होंने दिखा ही दी एहसान फरामोशी

अमेठी सांसद समृति ईरानी का कहना है कि अमेठी ने 15 साल तक निकम्मे सांसद को झेला, लेकिन समय आने पर उन्हें रास्ता भी दिखा दिया. उन्होंने कहा कि गांधी खानदान अमेठी में बिजली तक नहीं दे सका. 

Rahul Gandhi पर Smriti Irani का करारा हमला, कहा- आखिर उन्होंने दिखा ही दी एहसान फरामोशी

नई दिल्ली: 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव 2021 (Vidhansabha Chunav 2021) के बीच राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं. अमेठी छोड़ केरल के वायनाड से सांसद बने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के एक बयान को लेकर उत्तर प्रदेश के नेताओं में नाराजगी देखने को मिल रही है. दरअसल, राहुल गांधी ने केरल जाकर केरलवासियों की तुलना यूपी से कर दी. उन्होंने यह तक कह दिया कि उन्हें पसंद है कि केरल के लोग दिखावा नहीं करते और सतही राजनीति से दूर असली मुद्दों पर चर्चा करना चाहते हैं. इस बात से अमेठी से सांसद ने समृति ईरानी (Smriti Irani) ने कहा कि राहुल गांधी ने अमेठी की जनता को अपमानित किया है. उन्होंने यूपी के प्रति अपनी नफरत जाहिर की है और अब चुनाव हारने के बाद वह जनता पर ही आरोप लगा रहे हैं. कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल गांधी जनता के सामने कई सालों से ढोंग कर रहे हैं. अमेठी ने उन्हें सबकुछ दिया, फिर राहुल क्यों भाग गए?

ये भी पढ़ें: UP पंचायत चुनाव: जारी हुई इन 4 जनपदों की ब्लॉक स्तर की रिजर्वेशन लिस्ट, यहां देखें हर डिटेल

"देश के टुकड़े करने की इच्छा रखने वालों का समर्थन करते हैं राहुल"
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि कांग्रेस की राजनीति फूट डालने वाली है. असम में जाकर राहुल गांधी ने गुजरातियों का अपमान किया था. इसके अलावा, वह भारत के टुकड़े करने वालों का भी समर्थन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि गांधी परिवार की मानसिकता ही फूट डालने की है. इसलिए उनकी राजनीति विकास से वंचित करने वाली है. 

ये भी पढ़ें: ट्रेनिंग में पिस्तौल में नहीं डाल पाए गोली, न हो पाया फायर, SP बोले- बेटा तुमसे न हो पाएगा!

स्मृति ने कहा- अमेठी का अपमान बर्दाश्त नहीं करूंगी
कैबिनेट मंत्री ने आगे कहा कि अमेठी ने 15 साल तक निकम्मे सांसद को झेला, लेकिन समय आने पर उन्हें रास्ता भी दिखा दिया. उन्होंने कहा कि गांधी खानदान अमेठी में बिजली तक नहीं दे सका. यह कहना गलत नहीं होगा कि उत्तर भारत में राहुल की दाल नहीं गलती है. बता दें, राहुल गांधी अमेठी छोड़कर केरल के वायनाड से सांसद बन गए हैं. बीते मंगलवार केरल की जनता को संबोधित करते हुए राहुल ने यूपी और केरल के लोगों में तुलना की. राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान से नाराज स्मृति ईरानी ने कहा कि वह अमेठी का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगी. अमेठी उनके परिवार की तरह है और वह इसका अपमान नहीं सहेंगी. 

ये भी पढ़ें: UPPCL Recruitment 2021: बिजली विभाग में सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, जानें हर डिटेल

राहुल ने की थी उत्तर प्रदेश और केरल की तुलना
दरअसल राहुल गांधी ने अपने संबोधन में केरवासियों की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें केरल आना बहुत पसंद है. इतना ही नहीं, उन्होंने यूपी से केरल की तुलना कर कहा था कि वह 15 साल के लिए उत्तर भारत में सांसद थे, इसलिए उन्हें अलग तरह की राजनीति की आदत हो गई थी. लेकिन केरल आकर उन्होंने पाया कि वहां के लोग मुद्दों में दिलचस्पी रखते हैं. वे यहीं नहीं रुके. राहुल ने यूपी की तुलना में यह भी कहा कि केरल के लोग दिखावे में भरोसा नहीं करते, बल्कि गहनता से मुद्दों पर विचार करते हैं. केरल के लोग मुद्दों पर विस्तार से चर्चा करना चाहते हैं. उन्हें सतही राजनीति में रुचि नहीं है. राहुल ने कहा कि जितनी बार भी केरल जाते हैं, हर बार कुछ नया सीखने को मिलता है. 

ये भी पढ़ें: Indian Army Recruitment Rally: 10वीं-12वीं पास के लिए निकलीं बंपर भर्तियां, देखें शेड्यूल

सीएम योगी और स्मृति ईरानी ने जताई थी नाराजगी
राहुल के इस बयान पर स्मृति ईरानी समेत यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने भी नाराजगी जताई थी. ईरानी ने ट्वीट कर राहुल को एहसान फरामोश भी बताया था. उनका कहना था कि जिस राज्य से वह 15 साल तक सासंद रहे, उसके बारे में ऐसे बोलना किसी अपमान से कम नहीं. सीएम योगी ने भी ट्विटर पर पोस्ट कर लिखा था, 'श्रीमान राहुल जी, सनातन आस्था की तपस्थली केरल से लेकर प्रभु श्री राम की जन्मस्थली उत्तर प्रदेश तक सभी लोग आपको समझ चुके हैं. विभाजनकारी राजनीति आपका राजनीतिक संस्कार है. हम उत्तर या दक्षिण में नहीं, पूरे भारत को माता के स्वरूप में देखते हैं.'

WATCH LIVE TV