उत्तराखंड: केदारनाथ धाम में भारी बर्फबारी का दौर जारी, सारे कार्य रोके गए

वुड स्टोन के मुताबिक यदि इस बीच बर्फ नहीं गिरी तो पन्द्रह दिन बाद फिर से केदारनाथ धाम का जायजा लिया जाएगा.

उत्तराखंड: केदारनाथ धाम में भारी बर्फबारी का दौर जारी, सारे कार्य रोके गए
फाइल फोटो

रुद्रप्रयाग: उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी और बारिश का दौर जारी है. जिससे पूरा प्रदेश शीतलहर की चपेट में है. ठिठुरन बढ़ गई है और तापमान हर दिन लुढ़कता जा रहा है.

वहीं, केदारनाथ धाम (Kedarnath Dham) में ठंड और भारी बर्फबारी से मुश्किलें बढ़ गई हैं. चारों तरफ बर्फ ही बर्फ दिखाई दे रही है. केदारपुरी में रह रहे सभी लोगों को गौरीकुंड और सोनप्रयाग लौटा दिया गया है. जिसके बाद अब केदारनाथ में कोई भी नहीं है. पुनर्निर्माण कार्य न होने और सुरक्षा की दृष्टि से भी वुड स्टोन के मजदूर और पुलिस की टीम वापस लौट आई है.

बता दें कि केदारनाथ में दिसम्बर माह के शुरूआत में ही जोरदार बर्फबारी से यहां रह रहे लोगों की मुश्किलें बढ़ गई थी. केदारनाथ धाम में वर्तमान में चारों ओर बर्फ ही बर्फ है. जहां पुनर्निर्माण कार्य होने हैं, वहां बर्फ की मोटी दीवारें बनी हुई हैं. ऐसे में फिलहाल यहां कोई काम नहीं हो पा रहा है.

ठंड भी रिकार्ड तोड़ हो रही है. पानी पूरी तरह से जम चुका है और बिजली आपूर्ति ठप है. ऐसे में यहां रहना किसी चुनौती से कम नहीं है. दो दिन पहले ही पुलिस के सात जवान वापस लौट आए. दरअसल, पुलिस के अफसरों द्वारा जिलाधिकारी से वार्ता कर पुलिसकर्मियों की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें वापस बुला लिया गया. जबकि, वुड स्टोन के 11 मजदूर भी वापस लौट आए हैं. अब केदारनाथ में कोई भी नहीं है. 

वुड स्टोन के मुताबिक यदि इस बीच बर्फ नहीं गिरी तो पन्द्रह दिन बाद फिर से केदारनाथ धाम का जायजा लिया जाएगा. मगर बर्फबारी जारी रही तो केदारनाथ में जाना ठीक नहीं रहेगा. वहीं, पुलिस भी स्थिति को देखते हुए ही आगे निर्णय लेगी.