close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोनभद्र नरसंहारः प्रियंका गांधी के निर्देश पर उम्भा गांव पहुंचे कांग्रेस नेता, पीड़ित परिवारों को दिया चेक

मुआवजे की राशि देने पहुंची टीम में कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू, पूर्व विधायक भगवती प्रसाद चौधरी, पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी, महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव संगीता श्रीवास्तव समेत कांग्रेस के कई  नेता शामिल हैं.

सोनभद्र नरसंहारः प्रियंका गांधी के निर्देश पर उम्भा गांव पहुंचे कांग्रेस नेता, पीड़ित परिवारों को दिया चेक
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोनभद्र पीड़ितों को 10-10 लाख का मुआवजा देने की घोषणा की थी. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में 17 जुलाई को हुए नरसंहार के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवारों को 10-10 लाख देने की घोषणा की थी. जिसके बाद कांग्रेस महासचिव के निर्देश पर कांग्रेस की एक टीम सोनभद्र पहुंची है, जहां उन्होंने पीड़ित परिवारों को मुआवजे की राशि का चेक दिया. सोनभद्र पीड़ितों को मुआवजे की राशि देने के लिए रवाना हुई टीम के बारे में जानकारी देते हुए कांग्रेस नेता ने बताया कि कांग्रेस की एक टीम पीड़ितों को मुआवजे की राशि देने के लिए सोनभद्र पहुंची है. इस टीम कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू, पूर्व विधायक भगवती प्रसाद चौधरी, पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी, महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव संगीता श्रीवास्तव समेत कांग्रेस के कई  नेता शामिल हैं.

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के उम्भा गांव में 17 जुलाई को हुए नरसंहार में 10 लोगों की जान चली गई थी. दरअसल, यह पूरी वारदात जमीन को लेकर शुरू हुई थी, जिसमें गांव का प्रधान और उसके भतीजे समेत करीब 32 ट्रेक्टर-ट्रालियों में 300 से अधिक लोग एक जमीन पर कब्जा करने के लिए पहुंचे थे और इस पूरी घटना ने बाद में विवाद का रूप ले लिया था, जिसमें गोली लगने से 10 लोगों की मौत हो गई थी. घटना के बाद कांग्रेस महासचिव पीड़ितों से मिलने के लिए उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुईं थीं.

देखें लाइव टीवी

सोनभद्र नरसंहार के बाद नक्सलवाद बढ़ने की आशंका, पुलिस ने कहा- सभी चुनौतियों के लिए तैयार

लेकिन, प्रियंका गांधी वाड्रा को सोनभद्र पहुंचने से पहले मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में ही रोक लिया गया था, जिसके बाद प्रियंका गांधी ने सोनभद्र पीड़ितों से मिलने के बाद ही वापस जाने की बात कही थी. इसके बाद जिला प्रशासन ने प्रियंका गांधी को 24 घंटों तक चुनार गेट पर रोककर रखा और आखिर में उन्हें पीड़ित परिवारों से मिलने दिया गया. जहां प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार की महिलाओं से मुलाकात की और इन परिवारों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की थी. इसके साथ उन्होंने वादा किया कि जिस तरह से भी इन्हें सहायता की जरूरत होंगी कांग्रेस पार्टी इनके साथ है.