गुजरात से हो रही है उत्तराखंड वासियों की वापसी, सूरत से 1200 यात्री लेकर रवाना हुई स्पेशल ट्रेन

पहली ट्रेन सुबह 4 बजे सूरत से रवाना हुई. ये स्पेशल ट्रेन करीब 1200 मजदूरों को लेकर कल काठगोदाम पहुंचेगी. इसके बाद दूसरे चरण में बड़ी संख्या में प्रवासियों को हरिद्वार लाया जाएगा. अन्य राज्यों में भी फंसे लोगों को भी लाने के लिए योजना तैयार की जा रही है. अभी तक करीब 1 लाख, 80 हज़ार से ज़्यादा प्रवासियों ने उत्तराखंड आने के लिए पंजीकरण करवाया है

गुजरात से हो रही है उत्तराखंड वासियों की वापसी, सूरत से 1200 यात्री लेकर रवाना हुई स्पेशल ट्रेन
प्रतीकात्मक फोटो

देहरादून: लॉकडाउन के चलते गुजरात में फंसे उत्तराखंड के प्रवासियों ने राहत की सांस ली है. आज से प्रवासियों को वापस लाने का काम शुरू हो गया है. पहली ट्रेन सुबह 4 बजे सूरत से रवाना हुई. ये स्पेशल ट्रेन करीब 1200 मजदूरों को लेकर कल काठगोदाम पहुंचेगी. इसके बाद दूसरे चरण में बड़ी संख्या में प्रवासियों को हरिद्वार लाया जाएगा. 

दूसरे राज्यों से भी आएंगी स्पेशल ट्रेन
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिल्ली से भी विशेष ट्रेन चलाकर प्रवासियों को लाने के लिए रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की है. इसके अलावा बाकी राज्यों में फंसे लोगों को भी लाने के लिए योजना तैयार की जा रही है. अभी तक करीब 1 लाख, 80 हज़ार से ज़्यादा प्रवासियों ने उत्तराखंड आने के लिए पंजीकरण करवाया है. लॉकडाउन में कारोबार ठप होने की वजह से काम के सिलसिले में दूसरे राज्यों में गए लोग लगातार सरकार से घर वासपी की गुहार लगा रहे थे. जिसके बाद लॉकडाउन के पहले और दूसरे चरण में बसों के जरिए लोगों और छात्रों को वापस लाया गया. लेकिन दूर के राज्यों में फंसे लोगों को वापस लाना मुश्किल साबित हो रहा है. 

इसे भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच जल्द पटरी पर दौड़ेंगी ट्रेनें, जानें कब से शुरू होगी बुकिं

चरणबद्ध तरीके से होगी वापसी
लोगों को चरणबद्ध तरीके से उत्तराखंड लाने के लिए त्रिवेंद्र सरकार ने वेब लिंक के साथ-साथ 15 हेल्प लाइन नंबर जारी किए थे ताकि लोग अपना पंजीकरण करवा सकें. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक मौजूदा वक्त में 1 लाख 80 हजार से ज्यादा प्रवासी उत्तराखंड आने के लिए पंजीकरण करवा चुका हैं. इनमें बड़ी संख्या में लोग दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश और केरल से हैं. जबकि हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, गुजरात और पंजाब से करीब 26 हजार से ज्यादा लोगों को वापस लाया भी जा चुका है.

ये भी देखें : आगरा में नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार, हटाए गए CMO और AD 

गाइडलाइंस का पालन करने की अपील
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी प्रवासियों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की है. साथ ही मास्क पहनने और हाथों को बार-बार साफ करने की हिदायत दी है. इसके अलावा सभी को अनिवार्य क्वारंटाइन में रहने के लिए कहा गया है.

WATCH LIVE TV