प्रणब दा के निधन पर UP से लेकर MP तक राजकीय शोक घोषित, 7 दिन तक झुका रहेगा राष्ट्रीय ध्वज

राज्य शासन की ओर से जारी आदेश के मुताबिक 31 अगस्त से 6 सितम्बर तक प्रदेशभर में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा. राजकीय शोक के दौरान प्रदेश में शासकीय मनोरंजन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित नहीं होंगे. शेष शासकीय कामकाज यथावत चलते रहेंगे.

प्रणब दा के निधन पर UP से लेकर MP तक राजकीय शोक घोषित, 7 दिन तक झुका रहेगा राष्ट्रीय ध्वज
84 वर्ष की उम्र में प्रणब दा ने ली अंतिम सांस.

लखनऊ: पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के निधन पर उत्तर प्रदेश से लेकर मध्य प्रदेश तक 7 दिन का राजकीय शोक घोषित कर दिया गया है. राज्य शासन की ओर से जारी आदेश के मुताबिक 31 अगस्त से 6 सितम्बर तक प्रदेशभर में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा. राजकीय शोक के दौरान प्रदेश में शासकीय मनोरंजन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित नहीं होंगे. शेष शासकीय कामकाज यथावत चलते रहेंगे.

ये भी पढ़ें: प्रणब मुखर्जी: वो कांग्रेसी जो पार्टी के लाख विरोध के बावजूद RSS के बुलाने पर पहुंचा था संघ कार्यालय

 

प्रणब मुखर्जी का निधन राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति: CM योगी
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व राष्ट्रपति, भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के निधन को राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति बताया. उन्होंने कहा कि वह सार्वजनिक जीवन में शुचिता, पारदर्शिता एवं स्पष्टवादिता की प्रतिमूर्ति थे. परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए सीएम योगी ने कहा कि ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने परमधाम में स्थान दें.

राजनीति के अजातशत्रु थे प्रणब दा: CM शिवराज
इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व राष्ट्रपति को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि प्रणब दा राजनीति के अजातशत्रु थे. देश के लिए समर्पित ऐसे दृढ़ इच्छाशक्ति वाले अद्वितीय नेता सदियों में जन्म लेते हैं. प्रणब मुखर्जी के निधन से उत्पन्न विशाल शून्य को कभी भरा न जा सकेगा.

ये भी पढ़ें: अलविदा प्रणब दा: क्लर्क से भारत के राष्ट्र​पति बने, इंदिरा से करीबी तो राजीव से तल्खी भी रही

शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि श्रद्धेय प्रणब दा ने केंद्रीय वित्तमंत्री रहते हुए मध्य प्रदेश के विकास में योगदान देने में कोई कसर नहीं छोड़ी. वे अन्य दलों के नेताओं से भी आत्मीय संबंध रखते थे. उनका जाना हम सभी के लिए और देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है. भारत उनके देश प्रेम और जनसेवा को सदैव याद रखेगा.

WATCH LIVE TV: