देवस्थानम एक्ट को सुब्रमण्यम स्वामी ने हाईकोर्ट में दी चुनौती, आज होगी सुनवाई

बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने देवस्थानम बोर्ड एक्ट को हाईकोर्ट में चुनौती दे दी है. इस मामले को वह खुद हाईकोर्ट के सामने रख रहे हैं, उनकी तरफ से दाखिल की गई PIL पर मंगलवार को नैनीताल हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू होगी.

देवस्थानम एक्ट को सुब्रमण्यम स्वामी ने हाईकोर्ट में दी चुनौती, आज होगी सुनवाई
देवस्थानम एक्ट को चुनौती

नैनीताल: BJP नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने देवस्थानम बोर्ड एक्ट को हाईकोर्ट में चुनौती दे दी है. इस मामले को वह खुद हाई कोर्ट के सामने रख रहे हैं, उनकी तरफ से दाखिल की गई जनहित याचिका (PIL) पर मंगलवार को नैनीताल हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू होगी. सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि मंदिरों को सरकार के अधीन करना गलत है. चाहे कोई भी सरकार हो, मंदिरों को सरकारी नियंत्रण में नहीं किया जा सकता.

दरअसल, पिछले महीने देवस्थानम एक्ट का विरोध कर रहे उत्तराखंड के देवभूमि तीर्थ पुरोहित हक हकूकधारी महापंचायत का प्रतिनिधिमंडल राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी से उनके आवास पर मिला था. मुलाकात के दौरान साधु संतों ने इस एक्ट को अधिकारों का हनन बताते हुए याचिका दायर करने की गुहार लगाई थी. सुब्रमण्यम स्वामी ने बातचीत के बाद याचिका दायर कारने का आश्वासन दिया था. जिसके बाद सोमवार को देवस्थानम एक्ट को रद्द करने के लिए सुब्रमण्यम स्वामी ने नैनीताल हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की है.

त्रिवेंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ तीर्थ पुरोहित महापंचायत
उत्तराखंड सरकार ने हाल ही में चारधाम देवस्थानम प्रबंधन विधेयक विधानसभा में पारित कराया था. राजभवन से मंजूरी मिलने के बाद यह अधिनियम अस्तित्व में आ चुका है. अधिनियम के दायरे में चारधाम बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री सहित आसपास के मंदिर आते हैं. चारों धामों के तीर्थ पुरोहितों ने इस एक्ट के विरोध में तीर्थ पुरोहित महापंचायत का गठन किया था, जो इसका लगातार विरोध कर रहे हैं.