आगरा TTZ मामला: सुप्रीम कोर्ट ने नार्थ सेंट्रल रेलवे से पूछा, 'आपको पेड़ क्यों काटने हैं?'

उत्तर मध्य रेलवे ने एक अर्जी दायर कर सुप्रीम कोर्ट से दिल्ली से मथुरा के बीच चौथी रेलवे लाइन बिछाने के लिए ताज ट्रेपेज़ियम ज़ोन (टीटीजेड) में पेड़ काटने की अनुमति मांगी है.

आगरा TTZ मामला: सुप्रीम कोर्ट ने नार्थ सेंट्रल रेलवे से पूछा, 'आपको पेड़ क्यों काटने हैं?'
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने  नार्थ सेंट्रल रेलवे (North Central Railway) से सवाल किया हि आपको पेड़ (trees) क्यों काटने हैं? क्या आप एक वैकल्पिक मार्ग नहीं खोज सकते जहां आपको कम पेड़ काटने पड़ें?

दरअसल, उत्तर मध्य रेलवे ने एक अर्जी दायर कर सुप्रीम कोर्ट से दिल्ली से मथुरा के बीच चौथी रेलवे लाइन बिछाने के लिए ताज ट्रेपेज़ियम ज़ोन (टीटीजेड) में पेड़ काटने की अनुमति मांगी है.

सुप्रीम कोर्ट ने टीटीजेड क्षेत्र में पेड़ों को काटने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.  सुप्रीम कोर्ट  ने इस मुद्दे पर सुनवाई के लिए रेलवे अधिकारियों को बुधवार को कोर्ट में उपस्थित रहने को कहा है.

रेलवे ने अपनी दलील में कहा है कि दिल्ली मथुरा रेलमार्ग भारी भीड़भाड़ वाला है. इसलिए इस रूट पर अतिरिक्त रेलवे लाइन बिछाने की जरूरत है.