गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर जांच की निगरानी से SC का इनकार, 20 जुलाई को अगली सुनवाई

याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट से जांच की निगरानी की मांग की. इस पर सीजेआई ने कहा, ''हम ऐसा नहीं करेंगे.''

गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर जांच की निगरानी से SC का इनकार,  20 जुलाई को अगली सुनवाई
सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया.

नई दिल्ली: गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर की जांच की मांग से जुड़ी याचिकाओं पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. इस मामले में दायर याचिकाओं की सुनवाई भारत के मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे की अध्यक्षता वाली बेंच कर रही है. गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर मामले की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने एक जांच आयोग बनाने का संकेत दिया.

चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने कहा, ''हमने हैदराबाद के मामले में आयोग बनाया था. सभी पक्ष इस पहलू पर सुझाव दें.'' वहीं, इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में उत्तर प्रदेश सरकार का पक्ष रख रहे सॉलिसीटर जनरल ने कहा, ''हमें अपनी बात रखने का मौका मिले.'' याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट से जांच की निगरानी की मांग की. इस पर सीजेआई ने कहा, ''हम ऐसा नहीं करेंगे.''

कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे के घर से बरामद हुई पुलिस की AK47 और इंसास राइफल, शशिकांत भी पकड़ा

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई 20 जुलाई तक के लिए टाल दी. साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार को अपना जवाब दाखिल करने के लिए 23 जुलाई तक का समय दिया. आपको बता दें कि गैंगस्टर विकास दुबे व उसके साथियों के एनकाउंटर की सीबीआई से जांच कराने की मांग वाली याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई हैं. इन याचिकाओं में एक याचिका विकास दुबे के एनकाउंटर से कुछ घंटों पहले ही ई मेल के जरिए दाखिल की गई थी.

आपको बता दें कि गैंगस्टर विकास दुबे बीते 2 जुलाई की रात कानपुर के बिकरू गांव में हुए शूटआउट में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी था. बीते 10 जुलाई की सुबह कानपुर से 17 किलोमीटर पहले यूपी एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में गैंस्टर विकास दुबे मारा ​गया था. यूपी एसटीएफ की टीम विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर ला रही थी. कानपुर शूटआउट के बाद पुलिस के साथ मुठभेड़ में विकास दुबे गैंग के 6 अन्य सदस्य भी मारे गए थे.

WATCH LIVE TV