close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

वायरल वीडियो पर MLA प्रवण चैंपियन की सफाई, 'यह मेरे खिलाफ साजिश है; मैंने कोई अपराध नहीं किया'

उत्तराखंड के खानपुर से भाजपा विधायक कुंवर प्रणव सिंह चौंपियन का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह शराब के नशे में शस्त्र लहराते हुए दिख रहे हैं. 

वायरल वीडियो पर MLA प्रवण चैंपियन की सफाई, 'यह मेरे खिलाफ साजिश है; मैंने कोई अपराध नहीं किया'
विधायक ने वायरल वीडियो पर अपना पक्ष रखा है...

हरिद्वार: उत्तराखंड के खानपुर से भाजपा विधायक कुंवर प्रणव सिंह चौंपियन का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह शराब के नशे में शस्त्र लहराते हुए दिख रहे हैं. हाल ही में पार्टी ने अनुशासनहीनता के लिए उन्हें निलंबित कर दिया था. विधायक अपनी हरकतों से पार्टी के लिए अक्सर मुसीबतें खड़ी करते रहे हैं. विधायक ने अपना पक्ष रखा है. प्रणव सिंह का कहना है कि मेरे खिलाफ साजिश रची जा रही है. मैंने कोई अपराध नहीं किया.

पार्टी से निलंबित विधायक प्रणव चैंपियन ने वायरल वीडियो पर सफाई जारी करते हुए कहा, "यह मेरे खिलाफ साजिश है. ये लाइसेंसी हथियार हैं. मैंने किसी पर गन नहीं तानी, न ही किसी को धमकाया है. इसमें अपराध क्या है? क्या शराब पीना और गन रखना अपराध है?"  

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
सोशल मीडिया में छाए इस वीडियो में चौंपियन अपने हाथ में एक, दो नहीं, बल्कि तीन रिवॉल्वर और एक असल्ट राइफल के साथ गाने की धुन में ठुमके लगा रहे हैं. यही नहीं उनके हाथों में जाम भी है. वीडियो में उनके साथ कई और लोग भी ठुमके लगा रहे हैं. यही नहीं इस दौरान विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन अपशब्द भी बोल रहे हैं.

 

वहीं भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी का कहना है कि उन्हें पहले ही तीन महीने के लिए पत्रकार को धमकाने के मामले में पार्टी से निलंबित कर दिया गया था. हरिद्वार के एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खंडूरी ने इस बारे में बताया कि इस वीडियो को लेकर पुलिस कई बिंदुओं पर जांच करा रही है. उन्होंने बताया कि वीडियो किसी निजी पारिवारिक कार्यक्रम का है, अथवा किसी सार्वजनिक समारोह का, इस बारे में जांच कराई जाएगी.

खंडूरी ने बताया, "अगर वीडियो में दिखाई दिए शस्त्र गैर लाइसेंसी पाए गए तो कुंवर प्रणव चौंपियन और उनके साथ शस्त्र लहरा रहे लोगों के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा भी दर्ज कराया जाएगा. लेकिन इससे पहले सभी बिंदुओं पर जांच की जाएगी." गौरतलब है कि हाल ही में खानपुर के विधायक चैंपियन को पार्टी ने तीन महीने के लिए प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था. पार्टी ने चौंपियन पर यह कार्रवाई कुछ दिन पूर्व एक मीडियाकर्मी को कथित रूप से धमकी देने के मामले में की थी.