close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बंदरों का आतंक, बच्चों ने स्कूल आना किया बंद, यहां पड़ोसियों की मदद से आते हैं टीचर

इस प्राथमिक विद्यालय में बंदरों के आतंक से बच्चों ने लगभग आना बंद कर दिया है. शिक्षक भी परेशान हैं. क्योंकि बंदर काफी हमलावर हो गए हैं.

बंदरों का आतंक, बच्चों ने स्कूल आना किया बंद, यहां पड़ोसियों की मदद से आते हैं टीचर
बंदरों के डर की वजह से बच्चे कैद होकर पढ़ने को मजबूर हैं.

आगरा: आगरा में वन विभाग और शिक्षा विभाग की उदासीनता का खामियाजा इन दिनों नौनिहालों को भुगतना पड़ रहा है. आगरा के अलग-अलग इलाकों में बंदरों का आतंक इस कदर बढ़ गया है कि आम लोगों के साथ-साथ अब इसका असर स्कूलों में भी देखने को मिल रहा है. ऐसे ही नजारा आजकल माई थान स्थित प्राथमिक विद्यालय में देखने को मिल रहा है. इस प्राथमिक विद्यालय में बंदरों के आतंक से बच्चों ने लगभग आना बंद कर दिया है. शिक्षक भी परेशान हैं. क्योंकि बंदर काफी हमलावर हो गए हैं.

दरअसल, प्राथमिक विद्यालय में कुल 53 बच्चे पंजीकृत हैं. बंदरों के आतंक की वजह से 10-15 बच्चे ही स्कूल आ रहे हैं. बाकि के बच्चों ने बंदरों के डर की वजह से स्कूल आना बंद कर दिया है. वहीं बंदरों के आतंक से त्रस्त शिक्षिकाओं का भी कहना है कि उन्हें भी स्कूल में प्रवेश पड़ोसियों की मदद से करना पड़ता है.

स्कूल में लंबे से बंदरों का आतंक जारी है. कई बच्चों को बंदरों ने काट लिया है. इस वजह से बच्चों के साथ-साथ शिक्षिकाओं को भी डर लगता है. आलम ये है कि विद्यालय परिसर में भी बच्चों को पानी पीने और टॉयलेट जानें में भी मुश्किल हो रही है. 

छात्रों का कहना है कि बंदर कई बच्चों को काट चुके हैं. उन्होंने बताया कि क्लास में बंदर घुस जाते हैं. यहीं वजह से कि बच्चे स्कूल में नहीं आ रही है. कई बार शिकायत करने के बाद भी वन विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. इस मामले पर एडीएम सिटी से बात की गई, तो उन्होंने जांच कर कार्रवाई करने की बात कही.