close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शाहबेरी में अब नहीं होगी कोई भी रजिस्ट्री, IIT दिल्ली करेगी बिल्डिंग्स का सुरक्षा ऑडिट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपनाते हुए ये भी कहा की शाहबेरी, यमुना एक्सप्रेस-वे, नोएडा और ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण से जुड़े मामले में जवाबदेही तय की जाएगी और लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

शाहबेरी में अब नहीं होगी कोई भी रजिस्ट्री, IIT दिल्ली करेगी बिल्डिंग्स का सुरक्षा ऑडिट
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के प्रस्ताव पर सीएम ने ये आदेश दिए.

नई दिल्ली: शाहबेरी में बनी अवैध इमारतों को मुद्दा लगातार जोर पकड़ता जा रहा है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब खुद इस मामले की कमान संभले हुए हैं. बीते बुधवार को उन्होंने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकरियो को लखनऊ बुलाकर उनकी जमकर क्लास लगाई. मुख्यमंत्री ने इस बात के भी आदेश दिए कि शाहबेरी में अवैध निर्माण करवाने वाले बिल्डरों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) भी लगाई जाए.  

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के दिए गए प्रस्ताव पर अब योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया है कि शाहबेरी में कोई भी रजिस्ट्री अब नहीं होगी. इसके साथ ही अब आईआईटी दिल्ली पूरे शाहबेरी का निरीक्षण करेगी और अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. आईआईटी की रिपोर्ट के आधार पर ही जर्जर इमारतों को गिराने की कार्रवाई की जाएगी. 

लाइव टीवी देखें

जानकारी के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के प्रस्ताव पर सीएम ने ये आदेश दिए थे. अब शाहबेरी इलाके में आईआईटी सुरक्षा ऑडिट करेगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपनाते हुए ये भी कहा की शाहबेरी, यमुना एक्सप्रेस-वे, नोएडा और ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण से जुड़े मामले में जवाबदेही तय की जाएगी और लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

मुख्यमंत्री ने ये भी आदेश दिए है कि 2014 के बाद जितना भी अवैध निर्माण हुआ है, उसके लिए दोषी अधिकरियों की जांच कराई जाए और उन पर सख्त करवाई की जाए.