PM मोदी करेंगे देश के सबसे लंबेे एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास, जानें इसकी खासियतें...

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ से शुरू होकर बाराबंकी, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, अमेठी, सुल्तानपुर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होकर गुजरेगा. 

PM मोदी करेंगे देश के सबसे लंबेे एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास, जानें इसकी खासियतें...
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को तैयार करने के लिए 2 साल 6 महीने की लक्ष्य रखा गया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली/आजमगढ़: पीएम नरेंद्र मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करेंगे. ये एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल के लिए लाइफलाइन साबित होगी, क्योंकि इस एक्सप्रेस-वे के जरिये कई जिले आपस में जुड़ जाएंगे. साथ ही इस एक्सप्रेस वे के किनारे औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए जाएंगे जो बेरोजगारी की समस्या को दूर करने में मदद करेंगे. बीजेपी सरकार इस कोशिश में है कि पूर्वांचल के लोगों के लिए लखनऊ तक का सफर आसान किया जाए. लोगों को सुरक्षित और बेहतर सफर के लिए देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस वे बनाने की तैयारी शुरू हो गई है. इसे 'पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे' नाम दिया गया है. 354 किलोमीटर लंबा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ से शुरू होकर बाराबंकी, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, अमेठी, सुल्तानपुर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होकर गुजरेगा.

ये भी पढ़े: विकास की बयार से सियासी निशाना लगाएंगे PM मोदी, जानिए क्या हैं दो दिन के कार्यक्रम

'पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे' क्यों है खास
- पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे बनेगा
- 354 किलोमीटर लंबा होगा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे 
- लखनऊ से गाजीपुर तक ये एक्सप्रेस-वे बनेगा
- दिल्ली से गाजीपुर की दूरी होगी कम, आसान होगा सफर
- लखनऊ के चंदसराय गांव से शुरू होगा ये एक्सप्रेस-वे
- गाजीपुर के हैदरिया गांव तक बनेगा एक्सप्रेस-वे
- 4-5 घंटे में पूरा होगा लखनऊ-गाजीपुर का सफर 
- ये 6 लेन का एक्सप्रेस-वे होगा, जो 8 लेन तक बढ़ा सकते हैं
- ये टोटल कंट्रोल्ड एक्सप्रेस-वे होगा
- करीब, 17000 करोड़ की लागत से बनकर तैयार होगा
- आजमगढ़-गोरखपुर के लिए 100 किमी. लंबा नया लिंक एक्सप्रेस-वे बनाया जाएगा
- लिंक एक्सप्रेस-वे गोरखपुर को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जोड़ेगा
- इसको तैयार करने के लिए 2 साल 6 महीने की लक्ष्य रखा गया है
- पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अंबेडकरनगर, फैजाबाद, सुल्तानपुर, आजमगढ़, मऊ और गाजिपुर से होकर गुजरेगा