close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

समाजवादी सरकार की शिलापट्टिकाओं पर कालिख पोतने में PWD के तीन कर्मचारी निलंबित

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में समाजवादी पार्टी (सपा) के समय में शुरू कराए गए कई विकास कार्यों से जुड़ी शिला पट्टिकाओं पर कथित रूप से कालिख पोत दिए जाने के प्रकरण में सार्वजनिक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिशासी अभियंता ने तीन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है.

समाजवादी सरकार की शिलापट्टिकाओं पर कालिख पोतने में PWD के तीन कर्मचारी निलंबित
फाइल फोटो

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में समाजवादी पार्टी (सपा) के समय में शुरू कराए गए कई विकास कार्यों से जुड़ी शिला पट्टिकाओं पर कथित रूप से कालिख पोत दिए जाने के प्रकरण में सार्वजनिक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिशासी अभियंता ने तीन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है. इस मामले की जांच एक कनिष्ठ अभियंता को सौंपी गई है. निलंबित कर्मचारियों में चौकीदार रामेश्वर प्रसाद, देवेंद्र कुमार और शिव सिंह शामिल हैं. 

सपा कार्यकर्ताओं और अधिकारियों ने लगाए एक-दूसरे पर आरोप
सपा के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि कार्यालय के एक कर्मचारी ने उन पट्टिकाओं पर बदनीयती के चलते काली स्याही पोत दी. जबकि, सरकारी अधिकारियों का आरोप है कि सपा कार्यकर्ताओं ने पीडब्ल्यूडी के प्रांतीय खण्ड कार्यालय के अधिशासी अभियंता सुर्दशन कांत वर्मा आदि के साथ अभद्रता की, उन पर काली स्याही फेंकी और हंगामा कर सरकारी कार्य में बाधा डाली.

सपा के जिलाध्यक्ष समेत 36 के खिलाफ मामला दर्ज
पुलिस ने इस मामले में जिलाध्यक्ष सहित 36 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया. उधर, सपा जिलाध्यक्ष का आरोप है कि उन्होंने भी मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी, लेकिन पुलिस ने उस पर कार्रवाई नहीं की. इसके बाद शुक्रवार को सपा कार्यकर्ताओं ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की अदालत में प्रार्थना पत्र दाखिल किया. अदालत ने पुलिस से पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है. इस बीच सपा जिलाध्यक्ष तनवीर अहमद ने आरोप लगाया कि सपा सरकार के कामों को छिपाया जा रहा है. घटना की पूरी जानकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष को दे दी गई है. उन्होंने इस प्रकरण को विधानसभा में उठाने की बात कही है. 

(इनपुट भाषा से)