close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

यमुना एक्सप्रेस-वे: टोल पर जल्दी पहुंचे तो लगेगा जुर्माना, 'टाइम बूथ' रखेगा नजर

उल्लेखनीय है कि यह इंतजाम सोमवार तड़के जीरो पॉइंट पर हुए एक हादसे के बाद किया जा रहा है. हादसे में एक महिला सहित चार लोगों की मौत हो गई थी.

यमुना एक्सप्रेस-वे: टोल पर जल्दी पहुंचे तो लगेगा जुर्माना, 'टाइम बूथ' रखेगा नजर
बोर्ड लगाने पर आने वाले खर्च को जेपी इंफ्राटेक वहन करेगा.

ग्रेटर नोएडा: यमुना एक्सप्रेस-वे पर तेज रफ्तार चलना अब मुश्किल होगा. इसे काबू करने का प्राधिकरण ने फिलहाल तो नायाब फॉर्मूला खोज ही लिया है, जिसके तहत मौत की गति पर नियंत्रण का चाबुक अब मानव नहीं, बल्कि 'टाइम-बूथ' चलाएगा. साथ ही प्राधिकरण जीरो पॉइंट पर रफ्तार काबू रखने के लिए चेतावनी बोर्ड लगाने जा रहा है. 

यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ. अरुणवीर सिंह ने आईएएनएस को बताया, "टाइम-बूथ ग्रेटर नोएडा के पास जीरो पॉइंट पर और आगरा में निकासी पॉइंट पर लगाया जा रहा है. कोई भी वाहन जैसे ही एक्सप्रेस-वे पर पहुंचेगा, वाहन कैमरे में कैद हो जाएगा. यही वाहन जब टोल-प्लाजा पर पहुंचेगा तब वहां पहुंचने पर उसकी टाइमिंग पता चल जाएगी. अगर वक्त से पहले वाहन पहुंच गया तो उससे जुर्माना वसूला जाएगा."

उल्लेखनीय है कि यह इंतजाम सोमवार तड़के जीरो पॉइंट पर हुए एक हादसे के बाद किया जा रहा है. हादसे में एक महिला सहित चार लोगों की मौत हो गई थी. अरुणवीर सिंह ने बताया, "कोई भी वाहन अगर तेज रफ्तार से एक्सप्रेस-वे पर चढ़ेगा तो 'टाइम-बूथ' और वाहन की गति नियंत्रित करने के लिए काफी होगा. अभी वाहन चालक लाख समझाने के बाद गति पर नियंत्रण पाने को राजी नहीं हैं. वाहन चालकों के इस अड़ियल रवैये के चलते ही आए-दिन यमुना एक्सप्रेस-वे पर हादसों में बेकसूर मारे जा रहे हैं."

उल्लेखनीय है कि बोर्ड लगाने पर आने वाले खर्च को जेपी इंफ्राटेक वहन करेगा. इससे पहले ग्रेटर नोएडा की एक सामाजिक संस्था के पदाधिकारियों और सदस्यों ने भी सीईओ अरुणवीर सिंह से मिलकर इस बारे में सकारात्मक कदम उठाने की गुजारिश की थी.