OMG : जब बिना इंजन के 30 किलोमीटर तक दौड़ी ट्रेन, बड़ा हादसा टला

उत्तराखंड में चंपावत जिले के टनकपुर रेलवे स्टेशन से खटीमा तक बिना इंजन के आठ डिब्बे 30 किलोमीटर तक पटरी पर दौड़ते रहे. इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. हालांकि आधा दर्जन बकरियों और गाय के एक बछड़े को डिब्बों ने रौंद डाला.

OMG : जब बिना इंजन के 30 किलोमीटर तक दौड़ी ट्रेन, बड़ा हादसा टला
खटीमा पहुंचने के बाद लोहे के सामान से टकराने के बाद डिब्बे रूक गये. (file pic)

टनकपुर : उत्तराखंड में चंपावत जिले के टनकपुर रेलवे स्टेशन से खटीमा तक बिना इंजन के आठ डिब्बे 30 किलोमीटर तक पटरी पर दौड़ते रहे. इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. हालांकि आधा दर्जन बकरियों और गाय के एक बछड़े को डिब्बों ने रौंद डाला.

उत्तर प्रदेश में बरेली स्थित पूर्वोत्तर रेलवे इज्जतनगर के जनसंपर्क अधिकारी राजेंद्र सिंह ने बताया कि टनकपुर से उत्तर प्रदेश के मझौला के बीच 50 किलोमीटर की पटरियों पर कार्य चल रहा है.
सिंह ने बताया कि छोटी लाइन को बड़ा करने के लिये चल रहे निर्माण कार्य के कारण आजकल टनकपुर, चकरपुर, बनबसा और खटीमा रेलवे स्टेशन बंद हैं.

उन्होंने कहा कि निर्माण कंपनी की चूक के कारण यह हादसा हुआ. पटरी निर्माण के कारण टनकपुर से खटीमा तक पड़ने वाले एक दर्जन से अधिक रेलवे फाटक खुले हुए थे लेकिन दिन का समय होने के कारण कोई बड़ी अनहोनी होने से बच गई. हालांकि, डिब्बों की चपेट में आकर आधा दर्जन बकरियों और गाय के एक बछडे की मौत हो गई.

डिब्बों के आगे चल रहा एक चालक रहित ट्रेक्टर भी घटना में चकनाचूर हो गया. हालांकि, खटीमा पहुंचने के बाद लोहे के सामान से टकराने के बाद डिब्बे रूक गये. घटनास्थल पर रेलवे अधिकारी पहुंच गये हैं और घटना की जांच के आदेश दे दिये गये हैं.