पर्यावरण बचाने के लिए अनोखी पहल, बेटी के 'विवाह मंडप' से दिया हरियाली का संदेश

 रिटायर्ड बैंक मैनेजर अश्वनी ने इसी दिशा में अनोखी पहल की है. प्रकृति प्रेमी रिटायर्ड बैंक मैनेजर अश्वनी सक्सेना ने अपनी बेटी निकिता की शादी का 'विवाह मंडप'  अन्न-जल और पर्यावरण संरक्षण की थीम पर तैयार करवाया है. 

पर्यावरण बचाने के लिए अनोखी पहल, बेटी के 'विवाह मंडप' से दिया हरियाली का संदेश
पर्यावरण बचाने के लिए अनोखी पहल

संभल: अन्न-जल और पर्यावरण संरक्षण को लेकर अक्सर जागरुकता अभियान चलाए जाते हैं, उत्तर प्रदेश के संभल जनपद के चंदौसी में रहने वाले रिटायर्ड बैंक मैनेजर अश्वनी ने इसी दिशा में अनोखी पहल की है. प्रकृति प्रेमी रिटायर्ड बैंक मैनेजर अश्वनी सक्सेना ने अपनी बेटी निकिता की शादी का 'विवाह मंडप'  अन्न-जल और पर्यावरण संरक्षण की थीम पर तैयार करवाया है. इसके जरिए उन्होंने लोगों को खास संदेश दिया है.

प्रकृति प्रेमी रिटायर्ड बैंक मैनेजर अश्वनी सक्सेना ने विवाह मंडप पर कई स्लोगन लगवाए गए हैं. जिसमें लिखा है- सेव वाटर, शुभ कार्यों में उतना ही भोजन बनवाए जितना जरुरी हो, पर्यावरण बचाने के लिए पेड़ पौधे लगाए. इस स्लोगन के जरिए अन्न-जल और पर्यावरण को बचाने के लिए लोगों को जागरूक किया गया है.

अश्वनी सक्सेना ने विवाह मंडप में दूल्हे समेत सभी बारातियों का स्वागत पौधे भेंट करके किया. शादी को पूरी तरह प्लास्टिक फ्री रखने के लिए विशेष रूप से मिट्टी से बने बर्तनों का इस्तेमाल किया गया. शादी में आने बाले मेहमान खुद को प्रकृति के नजदीक महसूस कर पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरूक हों, इस बात को ध्यान में रखते हुए शादी के पंडाल को  ग्रीन स्टिक और फूलों से सजाया गया.

वहीं इस अनोखी पहल पर अश्वनी सक्सेना का कहना है कि अक्सर शादी-बारातों में आने वाले मेहमान  खाने और पानी की काफी बर्बादी करते हैं, जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है. इसीलिए हमने पर्यावरण बचाने की थीम पर मंडप को तैयार करवाया .वहीं उनकी इस पहल की सभी मेहमानों ने जमकर तारीफ की.