Basant Panchami 2021: बसंत पंचमी के दिन न करें ये काम, वरना पूजा रह जाएगी अधूरी

बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती प्रकट हुई थीं, इसीलिए बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की आराधना की जाती है. इस दिन शादी, गृह प्रवेश जैसे मंगल कार्य करना शुभ माना जाता है. हालांकि, मां सरस्वती की पूजा के इस शुभ दिन पर कुछ जरूरी बातों का खास ध्यान रखना जरुरी होता है, जिसे अक्सर लोग अनदेखा कर जाते हैं. बसंत पंचमी के दिन पीले रंग के कपड़े पहनें.

Basant Panchami 2021: बसंत पंचमी के दिन न करें ये काम, वरना पूजा रह जाएगी अधूरी

 

नई दिल्ली:  हर साल माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी (Basant Panchami) मनाई जाती है. इस बार बसंत पंचमी 16 फरवरी को मनाई जाएगी. बसंत पंचमी का दिन ज्ञान की देवी मां सरस्वती (Maa Saraswati) को समर्पित है. इस दिन मां सरस्वती की पूजा का विधान है. सरस्वती मां को ज्ञान, कला और संगीत की देवी कहा जाता है. 

Masik Shivratri 2021: भगवान शिव को खुश करने के लिए करें मासिक शिवरात्रि का व्रत, जानें पूजा विधि और महत्व

इस दिन मां सरस्वती हुईं थीं प्रकट
धार्मिक मान्यता के मुताबिक इसी दिन मां सरस्वती प्रकट हुई थीं, इसीलिए बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की आराधना की जाती है. इस दिन शादी, गृह प्रवेश जैसे मंगल कार्य करना शुभ माना जाता है. हालांकि, मां सरस्वती की पूजा के इस शुभ दिन पर कुछ जरूरी बातों का खास ध्यान रखना जरुरी होता है, जिसे अक्सर लोग अनदेखा कर जाते हैं. इसलिए इस दिन कुछ बातों का ख्याल जरूर रखना चाहिए.

बसंत पंचमी के दिन नहीं करें ये गलतियां 

  • बसंत पंचमी को काले रंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए. आज के दिन पीले वस्त्र धारण करना शुभ माना जाता है.
  • बसंत पंचमी के दिन मांस-मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए.  आज के दिन स्नान और पूजा के बाद सात्विक भोजन ग्रहण करना चाहिए.
  • बसंत पंचमी के  दिन पेड़-पौधों की कटाई नहीं करनी चाहिए.
  • इस दिन किसी से न तो झगड़ा करें और न किसी पर गुस्सा करें. ऐसा माना जाता है कि बसंत पंचमी को कलह होने से पितृों को कष्ट पहुंचता है.
  • इस दिन बिना नहाए कुछ भी नहीं खाना चाहिए. इस दिन नदी, सरोवर या पास के तालाब में स्नान करना चाहिए और मां सरस्वती की पूजा अराधना के बाद ही कुछ खाना चाहिए.
  • बसंत पंचमी के दिन स्नान किए बिना कोई भी कार्य न करें. सुबह उठकर सबसे पहले स्नान कर के मां सरस्वती की पूरे विधि-विधान के साथ पूजन करें और उसके बाद ही कुछ काम करें.
  • बसंत पंचमी के पावन दिन अपने मन में किसी व्यक्ति के लिए बुरे विचार न लाएं. बल्कि अपने मन में मां सरस्वती का ध्यान लगाएं.

मां सरस्वती के पूजन के लिए सामग्री
बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने के लिए ज्यादातर सामग्री सफेद रंग की होती है. इसलिए सरस्वती  पूजन में सफेद कपड़े, सफेद चंदन, दही और मक्खन, अक्षत, सफेद तिल, श्रीफल का उपयोग करें.

इस दिन पहने पीले रंग के कपड़े
बसंत पंचमी के दिन पीले रंग का विशेष महत्व है. ये रंग मां सरस्वती को पसंद है. इसलिए इस दिन विद्या की देवी को पीले रंग के कपड़े अर्पित करें. इसलिए मां को खुश करने के लिए बसंत पंचमी के दिन पीले रंग के कपड़े पहनें.

इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. अलग-अलग माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से इकट्ठा कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं. हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें.

Pausha Putrada Ekadashi: संतान प्राप्ति की कामना के लिए करें 'पौष पुत्रदा एकादशी' का व्रत, जानें पूरी पूजा विधि

इस गुफा में छिपे हैं महाभारत से जुड़े कई रहस्य, यहीं मिला था मां सरस्वती को श्राप

WATCH LIVE TV