इस बार का कोरोना 300% ज्यादा आक्रामक, इसके जिम्मेदार हम हैं तो बचने का पूरा दायित्व भी सिर्फ हमारा है

हम आपको डरा नहीं रहे, बल्कि सचेत कर रहे हैं. इस बार कोरोना से बचना हमारे लिए बहुत जरूरी है. तो आइए फिर से इससे बचने के उपाय दोहरा लेते हैं...

इस बार का कोरोना 300% ज्यादा आक्रामक, इसके जिम्मेदार हम हैं तो बचने का पूरा दायित्व भी सिर्फ हमारा है

निमिषा श्रीवास्तव/लखनऊ: कोरोना एक बार फिर से देश को जकड़ रहा है. सोमवार को देश में एक दिन में कोरोना के 56,211 नए मामले सामने आए. इससे पहले रविवार को 62,714 नए मामले और 312 मौतें दर्ज की गई थीं. हालांकि, बीते कुछ महीनों में हम कोरोना से जंग लगभग जीत ही गए थे. फिर यह महामारी इतनी ताकतवर कैसे हो गई? क्या इस बार भी हम दूसरे देशों को दोष दे सकते हैं? क्या इस बार भी हम यह कह सकते हैं कि यह लापरवाही हमारी नहीं, विदेशियों की है? बिल्कुल नहीं!

ये भी पढ़ें: ऐसे लोगों से कोरोना फैलने का ज्यादा खतरा, बचाव के लिए इन चीजों का रखें ध्यान

इस बार जिम्मेदार सिर्फ आप और हम हैं
जबसे देश में वैक्सीन बनने की खुशखबरी आई, लोगों ने पहले से ही मानना शुरू कर दिया कि अब कोरोना भाग ही गया है. जबकि डॉक्टर्स ने लगातार कहा कि वैक्सीनेशन का मतलब यह कतई नहीं है कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का नियम तोड़ा जाए. फिर भी जहां देखो, लोग साल 2019 (कोरोनावायरस के आने के पहले) जैसी जिंदगी जीने की कोशिश करने लगे. बिना कुछ सोचे समझे भीड़-भाड़ में जाने लगे और कोविड महामारी को एक और मौका मिल गया हमें हराने का. ऐसे में दोष किसी और का नहीं, बल्कि हमारा और आपका ही है, जो हमने लापरवाही करते हुए कोरोनावायरस को फिर से तबाही मचाने की छूट दे दी. इस बार और भी खतरनाक तरीके से. 

ये भी पढ़ें: यूपी का वो हाईटेक शहर जहां लोगों को सताता है '13' का डर, कोई नहीं रहना चाहता यहां

एक दर्जन से ज्यादा राज्य कोरोना की चपेट में
देश के करीब 12-13 प्रदेश कोरोना वायरस की दूसरी लहर का सामना कर रहे हैं. महामारी को कंट्रोल में करने का अनुभव होने के बावजूद इन राज्यों में स्थिति नॉर्मल नहीं हो पा रही है. इसका मुख्य कारण है वायरस का पहले से ज्यादा ताकतवर होना. डॉक्टर्स द्वारा दी जा रही जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस की आक्रामकता में 300 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. वहीं, केंद्र सरकार ने इस महामारी की सेकंड वेव के लिए राज्यों को जिम्मेदार ठहराया है. 

ये भी पढ़ें: खबर से लें सबक, फोन की बैटरी फटने से गई मासूम की जान, कहीं आप भी तो नहीं करते ये गलतियां?

51% तेज गति से फैल रहा है कोरोना 
महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में महामारी का कहर बढ़ता जा रहा है. महाराष्ट्र के करीब 10 शहरों में पूरी तरह से लॉकडाउन की स्थिति बन रही है. वहीं, दिल्ली में भी महामारी का असर देखने को मिल रहा है. बता दें, अगर लॉकडाउन की स्थिति फिर बनी, तो इसका असर हमपर भी पड़ेगा. यूपी-उत्तराखंड में भी कोरोना का कहर बढ़ता चला जा रहा है. आज यानी मंगलवार को ही, ऋषिकेश के एक होटल में एक साथ 76 लोग संक्रमित पाए गए हैं. विशेषज्ञों के मुताबिक, कोरोना की यह गति करीब 51% तेज हो गई है.

ये भी पढ़ें: ट्रेन से सफर सब करते हैं, लेकिन नहीं जानते होंगे PNR नंबर के बारे में यह बातें, जानें यहां

हम आपको डरा नहीं रहे, बल्कि सचेत कर रहे हैं. इस बार कोरोना से बचना हमारे लिए बहुत जरूरी है. तो आइए फिर से इससे बचने के उपाय दोहरा लेते हैं...

क्या एहतियात बरतने को कहते हैं डॉक्टर
1. सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें और भीड़-भाड़ वाले एरिया से बचें.
2. WHO (World Health Organization) की गाइडलाइन्स के मुताबिक COVID-19 के किसी भी नए संकेत और लक्षण के बारे में जानकारी रखें.
3. यदि कोई भी लक्षण (बुखार, खांसी, सांस फूलना, स्वाद की हानि, गंध का नुकसान आदि) महसूस हो तो तुरंत टेस्ट कराएं.
4. अगर लक्षण बढ़ते दिखाई दें तो मेडिकल मदद लें.
5. अगर आप किसी भी कोविड पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए हैं तो अपनी रिपोर्ट आने तक आइसोलेट रहें.
6. WHO की गाइडलाइन्स के मुताबिक हर थोड़ी देर पर 20 सेकेंड तक साबुन और पानी से हाथ धोएं और  
7. किसी भी सतह को छूने के बाद अल्कोहल वाले सेनेटाइजर से हाथ साफ करें.

ये भी पढ़ें: परिवार पर 160 केस; जिले में दहशत, विकास दुबे से कम नहीं है कन्नौज वाले राठौर का आतंक

8. बाहर निकलते समय या किसी व्यक्ति से बात करते समय मास्क पहनना कभी न भूलें.
9. घर और घर में आए हुए सामान को हमेशा डिसइंफेक्ट करें. (1% सोडियम हाइपोक्लोराइट सल्यूशन का इस्तेमाल कर सकते हैं तो बेहतर होगा).
10. रोजाना एक्सरसाइज करें और अच्छा खाना खाएं.
11. हमेशा अपनों से बात करें ताकि डिप्रेशन वाले विचारों से दूर रह सकें.
12. अगर हो सके तो अपनी बॉडी का ट्रैक रखने के लिए BP मशीन, पल्स ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर रखें.

WATCH LIVE TV