UP: सज-धज कर दुल्हन कर रही थी दिल्ली से आने वाली बारात का इंतजार, भड़की हिंसा और फिर...

राजधानी के मुस्तफाबाद में भड़की हिंसा के चलते शादी की मेहंदी रचाए दुल्हन बारात का इंतजार ही करती रह गई.

UP: सज-धज कर दुल्हन कर रही थी दिल्ली से आने वाली बारात का इंतजार, भड़की हिंसा और फिर...
फाइल फोटो

मोहित गोमत/बुलंदशहर: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में सज-धज कर बैठी एक दुल्हन की शादी दिल्ली के साम्प्रदायिक दंगों की भेंट चढ़ गई. राजधानी के मुस्तफाबाद में भड़की हिंसा के चलते शादी की मेहंदी रचाए बैठी दुल्हन बारात का इंतजार ही करती रह गई. लेकिन न दूल्हा पहुंचा और न बाराती.

दरअसल, सिकंद्राबाद के रिसालदार निवासी नगीना की दिल्ली के मुस्तफाबाद से 25 फरवरी यानि मंगलवार को बारात आनी मुकर्रर थी. लेकिन मुस्तफाबाद में भड़के दंगे की वजह से बारात घर से ही नहीं निकल पाई और नगीना इंतजार में अपने घर की चौखट पर ही बैठी रह गई. 

नगीना के पिता ने बताया कि उनकी दो बेटियों की शादी दिल्ली में तय हुई थी. एक बेटी की ओखला से बारात आनी थी जबकि दूसरी बेटी की बारात मुस्तफाबाद से आनी थी. ओखला से आने वाली बारात तो तय समय पर पहुंच गई. लेकिन मुस्तफाबाद में हिंसा के चलते बारात घर की चौखट तक नहीं पहुंच पाई.

बारात न पहुंचने से परिवार के साथ-साथ पड़ोसियों में भी मायूसी छाई हुई है. पड़ोसियों ने बताया कि गरीब घर से आने वाली नगीना के पिता ने कर्ज लेकर बामुश्किल शादी की तैयारियां की थी. वहीं अब परिवार वालों ने दिल्ली के लोगों से भाईचारा और आपसी सौहार्द कायम करने की अपील की है.

यह भी पढ़ें: अंकित शर्मा की अंतिम यात्रा: राम नाम सत्य की जगह लोगों ने की CAA-NRC के सपोर्ट में नारेबाजी