छावनी में तब्दील गाजीपुर बॉर्डर, 12 लेयर की बैरिकेडिंग के साथ लगाए गए कंटीले तार

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन तेज होते जा रहा है. किसान एक बार फिर पूरी मजबूती के साथ यहां पहुंच रहे हैं. किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने भी उन्हें रोकने के लिए तैयारियां सख्त कर दी है. गाजीपुर बॉर्डर को किले में तब्दील कर दिया गया है.

छावनी में तब्दील गाजीपुर बॉर्डर, 12 लेयर की बैरिकेडिंग के साथ लगाए गए कंटीले तार

गाजियाबाद: गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन तेज होते जा रहा है. किसान एक बार फिर पूरी मजबूती के साथ यहां पहुंच रहे हैं. किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने भी उन्हें रोकने के लिए तैयारियां सख्त कर दी है. गाजीपुर बॉर्डर को किले में तब्दील कर दिया गया है. चारों तरफ बैरिकेडिंग की गई है. यहां रातोरात 12 लेयर की बैरिकेडिंग की गई है. कंटीले तार भी लगाए गए हैं. पैरामिलिट्री फोर्सेज के साथ पुलिस के जवान तैनात हैं. एनएच-24 को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है. नोएडा सेक्टर-62 से अक्षरधाम जाने वाले रास्ते को भी पूरी तरह बंद किया गया है.

बॉर्डर पर अचूक घेरा
गाजीपुर में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर सुरक्षा का खासा इंतजाम किया गया है. पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों के साथ ही उत्तर प्रदेश पुलिस के जवान, पीएसी के जवानों को तैनात किया गया है. साथ ही सुरक्षा का अचूक घेरा बनाया गया है. पहले बैरिकेडिंग की गई है. बैरिकेडिंग के ऊपर कंटीले तार लगाए गए हैं. उसके बाद एक और बैरिकेडिंग की गई है उसके ऊपर भी कटीले तारों को लगाया गया है. पत्थर की दीवारें खड़ी की गई हैं. इसके बाद फिर से बैरिकेडिंग की गई है. 

पीएम मोदी की बात का टिकैत ने किया स्वागत
कल पीएम नरेंद्र मोदी कहा था कि उनके और किसानों के बीच बस एक कॉल की दूरी है. उनके इस बयान पर भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जो कहा है, उसका स्वागत करते हैं, हमारी बस यही मांग है कि तीनों काले कानून वापस लिए जाएं और MSP पर कानून बनाया जाए. नरेश टिकैत ने हरियाणा में इंटरनेट की पाबंदी की आलोचना की है.

फिर से तेज हुआ किसान आंदोलन
26 जनवरी को दिल्ली के लाल किले पर हुई घटना के बाद से आंदोलन धीमा पड़ गया था. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी गाजीपुर बॉर्डर को खाली कराने का आदेश था. लेकिन किसान नेता राकेश टिकैत के आह्वान पर एक बार फिर गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है. दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर दूर-दूर तक एक बार फिर ट्रैक्टर ट्रॉली ही नजर आ रही है. 

गाजीपुर बॉर्डर पर बदला माहौल, आंदोलन में शामिल होने भारी संख्या में पहुंचे किसान

हरियाणा-यूपी में किसान महापंचायत का ऐलान
राकेश टिकैत के आह्वान पर भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने महापंचायत बुलाई थी. इसमें एकजुट फैसला हुआ कि राकेश टिकैत के समर्थन में किसान फिर से गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचेंगे. इस महापंचायत में राष्ट्रीय लोकदल के जयंत चौधरी ने भी सपोर्ट किया. इसके बाद मथुरा में भी किसानों ने महापंचायत बुलाई थी यहां भी आंदोलन को तेज करने पर सहमति बनी. इस किसान आंदोलन की नई रणनीति तय करने के लिए अब किसान नेताओं ने यूपी और हरियाणा में किसान महापंचायत करने का ऐलान किया है.

WATCH LIVE TV