'मुझे याद करते हैं``खाने पर बुलाएंगी..' मोदी ने पीएम आवास योजना के लाभार्थियों से पूछे कई सवाल

पीएम मोदी ने लखीमपुर खीरी के नन्‍हें सिंह, चित्रकूट से राजकुमारी, वाराणसी की कमला देवी और अयोध्‍या की कुमकुम, सहारनपुर की बाला से बातचीत कर शुभकामना दी.

'मुझे याद करते हैं``खाने पर बुलाएंगी..' मोदी ने पीएम आवास योजना के लाभार्थियों से पूछे कई सवाल
पीएम मोदी ने पीएम आवास योजना के लाभार्थियों से बातचीत की.

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश को 20 जनवरी बुधवार को बड़ी सौगात दी. राज्य के 6.1 लाख लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2691 करोड़ की सहायता राशि जारी की.  आज 12.00 बजे पीएम मोदी वर्चुअल संवाद के जरिए प्रदेशवासियों को संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने पीएम आवास योजना के लाभार्थियों से बातचीत भी की. पीएम मोदी ने लखीमपुर खीरी के नन्‍हें सिंह, चित्रकूट से राजकुमारी, वाराणसी की कमला देवी और अयोध्‍या की कुमकुम, सहारनपुर की बाला से बातचीत कर शुभकामना दी.

यह भी पढ़ें - Pradhan Mantri Awas Yojana: PM मोदी ने UP के 6 लाख लोगों को दी 2000 करोड़ की सौगात 

काशी की लाभार्थी से पूछा मुझे याद करते हैं?
वाराणसी की लाभार्थी कमला देवी से बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने उन्हें मिल रही अन्य योजनाओं के लाभ के बारे में पूछा. इसके अलावा कहा, 'मुझे काशी आए हुए काफी समय हो गया है. क्या आप मुझे याद करते हैं?' जिसका जवाब लाभार्थी ने हां में दिया. लाभार्थी ने बताया कि वह स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हुई है. जिसमें 12 महिलाएं काम करती हैं. कमला देवी ने कहा कि आपकी कृपा से घर मिला है, इस पर पीएम मोदी ने कहा कि आपने जो तपस्या की है, उसकी वजह से आपको घर मिला है. 

पीएम मोदी से की अंग्रेजी में बात
पीएम आवास योजना का लाभ अयोध्या की कुमकुम को भी मिला. प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे बात की. बातचीत के दौरान कुमकुम ने पीएम के सवाल का जवाब अंग्रेजी में दिया. अंग्रेजी में उत्तर देने पर पीएम मोदी ने पूछा आपको अंग्रेजी आती है, कितना पढ़ी हैं आप? इस पर लाभार्थी ने बताया कि वह 8वीं तक पढ़ी है लेकिन स्कूल में काम करती है जिसकी वजह से अंग्रेजी में थोड़ा बात कर लेती है. पीएम ने पूछा कि योजना का लाभ लेने में किसी प्रकार की कठिनाई या कहीं दफ्तर के चक्कर तो नहीं काटने पड़े. इस पर लाभार्थी ने कहा नहीं, हमें आसानी से घर मिल गया. 

पीएम मोदी ने पूछा, कभी हमें भी बुलाकर खिलाएंगी खाना?
प्रधानमंत्री ने सहारनपुर की लाभार्थी बाला से बातचीत कर योजना के बारे में पूछा, कि योजना का लाभ लेने में किसी तरह की कोई परेशानी तो नहीं हुई. इसके अलावा पूछा कि अपना घर मिलने पर कैसा महसूस कर रही हैं? लाभार्थी ने कहा कि अपना घर होने पर खुशी हो रही है. पीएम मोदी ने कहा कि क्या अब घर बुलाकर मुझे कुछ खिलाएंगी? लाभार्थी बाला ने कहा जी जरूर. 

पीएम के साथ उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद हैं. बता दें, योजना में  5.30 लाख ऐसे लाभार्थी होंगे जिन्हें आर्थिक सहायता की पहली किस्त मिलेगी. जबकि 80 हजार लाभार्थी ऐसे होंगे, जिन्हें दूसरी किस्त मिलेगी.

PMAYG के तहत मदद के लिए मिलती है इतनी राशि 
पीएमएवाई-जी के लाभार्थियों को घर के अलावा महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (Mahatma Gandhi National Rural Employment) के अंतर्गत अकुशल कामगार श्रेणी के तहत भी मदद दी जाती है. साथ ही, शौचालय निर्माण के लिए स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण (Swachh Bharat Mission) या अन्य स्त्रोत से 12,000 रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है.

इस योजना को केंद्र सरकार और राज्यों तथा केंद्र शासित सरकारों की अन्य योजनाओं के साथ भी जोड़ा गया है. इसके तहत लाभार्थी को एलपीजी कनेक्शन का लाभ देने के लिए उज्ज्वला योजना, बिजली कनेक्शन, और सुरक्षित पेयजल आपूर्ति के लिए जल जीवन मिशन इत्यादि को इसमें शामिल किया गया है.

2016 में शुरू हुआ था PMAYG 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने “2022 तक सभी को घर” दिये जाने का आह्वान किया था, जिसके लिए 20 नवंबर, 2016 को पीएमएवाई-जी योजना का शुभारंभ किया गया था. इस योजना के अंतर्गत अब तक 1.26 करोड़ घर पहले ही बनाए जा चुके हैं. पीएमएवाई-जी के अंतर्गत मैदानी इलाकों में प्रत्येक लाभार्थी को घर बनाने के लिए 1.20 लाख रुपये, जबकि पहाड़ी क्षेत्रों (पूर्वोत्तर राज्यों, दुर्गम स्थानों, जम्मू कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित क्षेत्रों, आईएपी, एलडबल्यूई जिलों) के लोगों को 1.30 लाख की आर्थिक सहायता दी जाती है.

WATCH LIVE TV