इन 8 बैंक में अकाउंट है तो आज ही कर लें ये सबसे जरूरी काम, कल से चेंज हो जाएगा सिस्टम

 1 अप्रैल से पहले आपको पता कर लेना चाहिए कि आपके बैंक का नया IFSC क्या है. यह आपको ऑनलाइन भी पता चल सकता है. साथ ही, जरूरी है कि आप नई चेकबुक और पासबुक ले लें...

इन 8 बैंक में अकाउंट है तो आज ही कर लें ये सबसे जरूरी काम, कल से चेंज हो जाएगा सिस्टम

लखनऊ: मार्च के साथ यह फाइनेंशियल ईयर भी खत्म हो रहा है. 1 अप्रैल से नया वित्त वर्ष शुरू होगा और इसी के साथ बैंक की छुट्टियां भी. वैसे तो सिर्फ 1 अप्रैल को ही बैंकों में पब्लिक डीलिंग नहीं होती, यानी बैंक बंद रहते हैं, लेकिन इस बार बैंक दो दिन बंद रहेंगे क्योंकि 2 अप्रैल को गुड फ्राइडे पड़ रहा है. इसलिए अगर कोई जरूरी काम हो तो आज ही निपटा लें, वरना बैंक जाने के लिए 2 दिन का इंतजार तो पक्का है. आज के दिन भी केवल 3 बजे तक ही ग्राहक काम करवा सकते हैं.  

ये भी पढ़ें: कल से हो रहा है कुंभ का आगाज, आज रात से ही इन लोगों की नहीं हो पाएगी एंट्री

इसके अलावा, नए वित्त वर्ष की शुरुआत से बैंकिंग सिस्टम  में नए नियम भी लागू होने जा रहे हैं, या यूं कहें कि कुछ पुराने नियम बदलने वाले हैं. कई बैंक तो ऐसे भी हैं, जिनके IFSC बदलेंगे. जाहिर है कि इससे अकाउंट होल्डर्स पर भी असर पड़ेगा. क्योंकि पैसा डिपॉजिट करने के प्रोसेस में IFSC होना जरूरी है. जानिए किसपर पड़ेगा असर...

ये भी पढ़ें: अप्रैल में केवल 20 दिन करा पाएंगे बैंक के काम: जान लें तारीखें, नहीं होना पड़ेगा परेशान

 

इन बैंक के कस्टमर्स को रखना होगा ध्यान
आपको मालूम हो कि हाल ही में कुछ बैंक मर्ज किए गए हैं. ऐसे में 8 बैंक हैं, जिनमें खाता होने पर आपको ध्यान देना होगा कि आपकी पासबुक डिटेल्स चेंज हो सकती हैं. यह हैं वह बैंक
1. देना बैंक                                           बैंक ऑफ बड़ौदा में होगा विलय
2. विजया बैंक                                        बैंक ऑफ बड़ौदा में होगा विलय
3. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स                 पंजाब नेशनल बैंक में हुआ मर्ज      
4. यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया                   पंजाब नेशनल बैंक में हुआ मर्ज      
5. सिंडिकेट बैंक                                     कैनरा बैंक में विलय
6. आंध्रा बैंक                                          यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में विलय
7. कॉरपोरेशन बैंक                                 यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में विलय
8. इलाहाबाद बैंक                                   इंडियन बैंक में विलय

ये भी पढ़ें: KNOWLEDGE: ज्यादातर लोग गलत बताते हैं ATM का फुल फॉर्म; इसके इन्वेंटर का है India से कनेक्शन

ये होंगे बदलाव
जो बैंक दूसरे बैंकों में मर्ज किए जा रहे हैं, उनके IFSC चेंज किए जाएंगे. इसके अलावा, कस्टमर के पुराने चेर और पासबुक में भी बदलाव किया जाएगा. आपको बता दें, अगर आपका IFSC बदलता है, तो आपकी पर्सनल डिटेल में भी बदलाव किया जाता है. इसलिए इन 8 बैंकों के चेक काम करना बंद कर देंगे. 

सिंडिकेट बैंक ग्राहकों को मिलेगा थोड़ा और समय
वैसे तो सिंडिकेट बैंक भी कैनरा बैंक में मर्ज हो गया है, लेकिन अभी सिंडिकेट बैंक के अकाउंट होल्डर्स पुरानी चेकबुक का प्रयोग अभी भी कर सकते हैं. सिंडिकेट बैंक के चेक 30 जून तक वैलिड रहेंगे.

ये भी पढ़ें: इस बार का कोरोना 300% ज्यादा आक्रामक, इसके जिम्मेदार हम हैं तो बचने का पूरा दायित्व भी सिर्फ हमारा है

यह करना है जरूरी
बता दें, 1 अप्रैल से पहले आपको पता कर लेना चाहिए कि आपके बैंक का नया IFSC क्या है. यह आपको ऑनलाइन भी पता चल सकता है. साथ ही, जरूरी है कि आप नई चेकबुक और पासबुक ले लें. क्योंकि 1 अप्रैल से आपकी चेकबुक मान्य नहीं होगी. 

ये भी पढ़ें: Weather Alert: मार्च में ही आ गई मई जैसी गर्मी, जानें क्या होगा मौसम का हाल

क्यों जरूरी होता है IFSC?
अगर आप पैसों का लेनदेन ऑनलाइन करते हैं, तो IFSC का इस्तेमाल जरूर करते होंगे. IFSC का मतलब है Indian Financial System Code होता है, जो हर बैंक की ब्रांच का अलग होता है. किसी अन्य बैंक से जब ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने होते हैं, तो IFSC की जरूरत पड़ती है. 

WATCH LIVE TV