आम नहीं बच्चों के लिए बनता है नीले रंग का आधार कार्ड, जानिए बनवाने का फुल प्रोसेस

आप भी अपने बच्चे का नीले रंग का यह बाल आधार कार्ड कैसे बनवा सकते हैं, इसकी पूरी जानकारी हम आपको बताने जा रहे हैं

आम नहीं बच्चों के लिए बनता है नीले रंग का आधार कार्ड, जानिए बनवाने का फुल प्रोसेस

नई दिल्लीः हम सभी जानते हैं कि आज आधार कार्ड के बिना कोई भी काम होना मुश्किल है. बड़े तो बड़े आज छोटे बच्चों के कई काम भी आधार कार्ड के जरिए ही होते हैं. कह सकते हैं कि आज छोटे बच्चों के लिए आधार कार्ड जरूरी है. देश में आधार कार्ड बनाने वाली सरकारी संस्था भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने ट्वीटर पर जानकारी देते हुए बताया कि बच्चों के लिए बाल आधार (Baal Aadhaar) बनवाना होता है. ये खास तरह का आधार होता है.

आधार कार्ड पांच साल से कम उम्र के बच्चों के लिए बनाया जाता है. नीले रंग का यह आधार कार्ड केवल बच्चों के लिए बनाया जाएगा. जब बच्चा पांच साल का हो जाएगा तो ये आधार अमान्य हो जाता है. इसलिए उसे अपने पास वाली स्थाई आधार केंद्र पर जाकर इसी आधार संख्या से बच्चों का बायोमेट्रिक डिटेल रजिस्टर्ड कराना होता है.

घर बैठे करें हार्ट-कोरोना और फेफड़ों की जांच और मिनटों में पाएं रिपोर्ट, इस युवक ने बनाई ये डिवाइस

UIDAI ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है. ऐसे में आप भी अपने बच्चे का नीले रंग का यह बाल आधार कार्ड कैसे बनवा सकते हैं, इसकी पूरी जानकारी हम आपको बताने जा रहे हैं.

ऐसे बनवा सकेगें बाल आधार कार्ड

  • सबसे पहले आपको आधार इनरोलमेंट सेंटर पर जाना होगा
  • बाल आधार कार्ड बनवाने वाला फॉर्म खरीदना होगा
  • बच्चे के बाल आधार कार्ड में माता पिता में से किसी एक का जन्म प्रमाण पत्र लगवाया जाएगा
  • जिस बच्चें का आधार कार्ड बनना होगा उसकी सेंटर पर ही फोटो खींची जाएगी
  • ये फोटो उसके बाल आधार कार्ड में लगाई जाएगी
  • बाल आधार माता पिता में किसी एक के आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा

नीले रंग का होता है बाल आधार कार्ड
नीले रंग का बच्चों का यह आधार कार्ड केवल 5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए बनाया जाता है. जो केवल बच्चे के पांच साल की उम्र तक ही मान्य रहेगा. जैसे ही बच्चा पांच साल से ज्यादा का होगा यह बाल आधार कार्ड अमान्य हो जाएगा, यह जानकारी UIDAI की तरफ से दी गई है.

12% की ब्याज दर से बचना है तो आज ही जमा करें House Tax, घर बैठे ऐसे करें पेमेंट

आम आधार से कितना अलग होगा बाल आधार
यूआईडीएआई (UIDAI) ने स्पष्ट किया है कि बाल आधार में बायोमेट्रिक आईडेंटिफिकेशन जैसे आइरिस स्कैन या फिंगरप्रिंट स्कैन की जरूरत नहीं होगी. जहां कहीं भी बच्चे की पहचान की जरूरत होगी वहां उसके माता पिता साथ जाएंगे. हालांकि, जैसे ही बच्चे की उम्र पांच वर्ष के पार होती है, उसे सामान्य आधार कार्ड जारी कर दिया जाएगा. इसमें सभी बायोमैट्रिक डिटेल्स होंगी. इसके अलावा जिस तरह से आधार कार्ड बनवाने में सभी प्रकार की बायोमैट्रिक डिटेल्स देनी पड़ती है, उस तरह नीले रंग के इस आधार कार्ड में किसी भी प्रकार की बायोमैट्रिक डिटेल्स नहीं देनी होगी.

नहीं ली जाएगी बच्चे की बायोमेट्रिक डिटल
खास बात यह है कि बाल आधार कार्ड (baal Aadhaar Card) में बच्चे की बायोमेट्रिक डिटेल नहीं ली जाती है. इसके लिए केवल माता-पिता में से किसी एक मोबाइल नंबर रजिस्टर कराना होगा. वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन का कंफर्मेशन मैसेज जो नंबर आधार कार्ड बनवाने के दौरान दिया गया होगा, उस पर आएगा. कंफर्मेशन मैसेज मिलने के 60 दिनों के अंदर मां-बाप के रजिस्टर्ड पते पर बाल आधार भेज दिया जाएगा.

ऑनलाइन पढ़ाई के लिए योगी सरकार देगी हाई स्पीड इंटरनेट, 45 हजार ग्राम सभाओं को फायदा

WATCH LIVE TV