उमर गौतम के पक्ष में कानूनी लड़ाई लड़ना चाहते हैं मौलाना मदनी, कही यह बड़ी बात

मौलाना का कहना है कि मीडिया ने जिस तरह से उमर गौतम को पेश किया है वह चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि मीडिया जज की तरह बात कर रही है और अल्पसंख्यकों और कमजोर वर्ग के मामले में यह चीज बेहद गलत है.

उमर गौतम के पक्ष में कानूनी लड़ाई लड़ना चाहते हैं मौलाना मदनी, कही यह बड़ी बात

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण आरोपी मौलाना उमर गौतम इन दिनों सवालों के घेरे में है. इस बीच जमीयत उलेमा-ए-हिंद उमर गौतम के पक्ष में खड़ा है. 7 दिन के लिए यूपी एसटीएफ की कस्टडी में उमर गौतम के पक्ष जमीयत कानूनी लड़ाई लड़ना चाहता है.

नोएडा का मूक-बधिर स्कूल था ISI का अड्डा, छात्रों का धर्मांतरण कर देते थे आतंकवाद की ट्रेनिंग

उमर गौतम के परिजनों को दिया आश्वासन
दरअसल, जमीयत उलेमा-ए-हिंद के राष्ट्रीय कार्यवाहक मौलाना महमूद मदनी ने यह एलान किया है कि वह उमर गौतम के पक्ष में कानूनी लड़ाई लड़ना चाहते हैं. मौलाना मदनी ने मीडिया को बताया है कि जमीयत के महासचिव मौलाना हकीमुददीन ने उमर गौतम के परिजनों को इस बात का आश्वासन दिया है. मदनी का कहना है कि इस सरकार सबके लिए बराबर होनी चाहिए. ऐसे में उमर गौतम के पास भी डिफेंस का अधिकार होना चाहिए. 

उमर को सीधा दोषी ठहरा देना गलत
मदनी का कहना है कि न्याय मांगने का अधिकार सभी को है. उनका कहना है कि उमर गौतम के बेटे अब्दुल्ला ने उनसे अनुरोध किया था, जिसके बाद यह निर्णय लिया गया कि उमर की तरफ से कानूनी लड़ाई जमीयत लड़ेगी. मौलाना मदनी ने कहा कि अगर उमर ने कुछ गलत किया है तो उसकी सजा कोर्ट तय करेगा. साथ ही, उन्होंने यह भी कहा है कि कोर्ट से हटकर एक कोर्ट नहीं बनाया जा सकता. उमर को सीधी दोषी ठहरा देना गलत है. मदनी ने कहा कि वह अदालत से अपील करेंगे कि मीडिया ट्रायल पर रोक लगाई जाए.

धर्मांतरण मामला: हुए चौंकाने वाले खुलासे, विदेशी फंडिंग के साथ इन संगठनों से भी मिला कनेक्शन

मीडिया को लेकर भी जताई चिंता
उमर गौतम के मामले में मौलाना मदनी ने मीडिया की निंदा की है. मौलाना का कहना है कि मीडिया ने जिस तरह से उमर गौतम को पेश किया है वह चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि मीडिया जज की तरह बात कर रही है और अल्पसंख्यकों और कमजोर वर्ग के मामले में यह चीज बेहद गलत है.

WATCH LIVE TV