UP पंचायत चुनाव में दिलचस्प मुकाबला, एक-दूसरे के सामने उतरीं देवरानी-जेठानी

दोनों ही महिलाएं काकोरी विकासखंड की बडांगांव पंचायत से चुनाव लड़ रही हैं. 

UP पंचायत चुनाव में दिलचस्प मुकाबला, एक-दूसरे के सामने उतरीं देवरानी-जेठानी
सांकेतिक तस्वीर.

लखनऊ: राजनीति एक ऐसी चीज है, जो अपनों को भी खिलाफ कर देती है. सत्ता की कुर्सी पाने के लिए कुछ भी कर गुजरते हैं. ऐसा ही नजारा उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव में भी देखने को मिल रहा है. यहां गांव की सरकार चलाने के लिए एक ही परिवार के ही लोग एक दूसरे के चुनौती दे रहे हैं. दरअसल, लखनऊ में एक ही परिवार की दो बहुएं (देवरानी- जेठानी) चुनावी मैदान में अपना दम-खम दिखाने एक-दूसरे के सामने पूरी तैयारी से उतर चुकी हैं. 

पूरी जिम्मेदारी से निभाएंगी प्रधान का फर्ज 
दोनों ही महिलाएं काकोरी विकासखंड की बडांगांव पंचायत से चुनाव लड़ रही हैं. दोनों ही एजुकेटेड हैं. दोनों प्रत्याशियों का कहना है कि अभी तक घर की जिम्मेदारी संभाल रहे थे. अब पंचायत को संभालने का मौका मिल रहा है. उन्होंने कहा कि अगर प्रधान बनते हैं तो पंचायत की जिम्मेदारी भी अच्छे से निभाएंगे ताकि गांव के सभी परिवार स्वस्थ और शिक्षित हो सकें. साथ ही साथ आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनें. इसी तरह मलिहाबाद की भतोईया, गोसवा, सहिलामऊ,बडीगढी जैसे कई ग्राम पंचायतों में घर का काम-काज, चूल्हा-चौका करने वाली महिलाएं अब पंचायत की जिम्मेदारी संभालने के लिये कमर कस चुकी हैं. 

इस जगह सामने आईं सास-बहू, मां-बेटी
बीते दिनों एटा जिले से भी ऐसी ही खबर सामने आई थी. यहां मजरा जात सकीट से सास-बहू दोनों ने नामांकन दाखिल किया. वहीं, मिश्री गांव से प्रधानी के लिए मां-बेटी और भतीजी ने पर्चा भरा है. इसके अलावा ग्राम पंचायत कोची से जेठानी-देवरानी एक-दूसरे के आमने-सामने पूरी तैयारी से मुस्तैद हैं. 

कब होंगे चुनाव ?
बता दें कि यूपी में चुनाव 4 चरणों में कराए जाएंगे. ये चुनाव 15 अप्रैल, 19 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को  कराए जाएंगे. पहले चरण में 18 जिले, दूसरे चरण में 20 जिले, तीसरे चरण में और 20 चौथे चरण में 17 जिले में चुनाव होंगे. वहीं, 2 मई को रिजल्ट जारी किया जाएगा. 

WATCH LIVE TV