UP Panchayat Chunav: ब्लॉक प्रमुख के 826 पदों पर बीजेपी की नजर, रोचक हो जाएगी तस्वीर

बीजेपी (BJP) गांव पंचायतों तक पैठ बढ़ाने के लिए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव लड़ने के लिए अपने संगठन को सक्रिय कर रही है. यूपी में होने जा रहे पंचायत चुनाव में बीजेपी की नजर ब्लॉक प्रमुख के 826 पदों पर भी है.

UP Panchayat Chunav: ब्लॉक प्रमुख के 826 पदों पर बीजेपी की नजर, रोचक हो जाएगी तस्वीर

विशाल सिंह/लखनऊ: उत्तर प्रदेश में होने वाले पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election) को लेकर भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह से तैयार है. बीजेपी (BJP) गांव पंचायतों तक पैठ बढ़ाने के लिए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव लड़ने के लिए अपने संगठन को सक्रिय कर रही है. यूपी में होने जा रहे पंचायत चुनाव में बीजेपी की नजर ब्लॉक प्रमुख के 826 पदों पर भी है.

 AMU: गणतंत्र दिवस पर जमीन में दफन किया जाएगा टाइम कैप्सूल, इसमें समेटा गया है पूरा इतिहास

पार्टी के अंदर हो रहा है मंथन
अधिक से अधिक ब्लॉकों में अपना प्रमुख बनाने के लिए पार्टी क्षेत्र पंचायत सदस्य (बीडीसी) के 75805 पदों के लिए भी समर्थित प्रत्याशी उतार सकती है. उत्तर प्रदेश में 826 ब्लॉक प्रमुख के पद हैं. ब्लॉक प्रमुख बनाने के लिए पार्टी क्षेत्र पंचायत सदस्य (BDC) के 75805 पदों के लिए भी समर्थित या फिर सीधे सिंबल पर प्रत्याशी उतार सकती है. पार्टी के अंदर इस मुद्दे पर तेजी से मंथन हो रहा है. बहुत जल्द इस पर फैसला होने की उम्मीद है.

कोर कमेटी की बैठक में भी चर्चा
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पंचायत चुनाव में सफलता के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने निर्देश दिए हैं. उन्होंने सभी को गांव पंचायतों तक मजबूती से जाने को कहा है. ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भी सफलता के लिए बीडीसी चुनाव लड़ने के मुद्दे पर पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में भी चर्चा हुई. बीजेपी यदि बीडीसी चुनाव में जाती है, तो पार्टी के बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को चुनाव लड़ने का मौका मिल जाएगा. बीजेपी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के मुताबिक बीडीसी चुनाव में पार्टी जाए या नहीं, इस मुद्दे पर फैसला जल्द लिया जाएगा.

विधायक-सांसदों को चुनाव में न उतारने की हिदायत
इससे पहले बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने विधायक-सांसदों को अपने रिश्तेदार या फिर अपने प्रत्याशियों को चुनाव में न उतारने की हिदायत दी है. जेपी नड्डा ने शुक्रवार को अवध क्षेत्र के सांसदों और विधायकों के साथ बैठक में कहा कि कोई भी अपना निजी एजेंडा न चलाएं. हां, सिर्फ यह देखें कि कैसे पार्टी की नीतियों को आम लोगों तक पहुंचाया जाए. पंचायत चुनावों में भी सावधान रहना है. पार्टी पूरी मजबूती से पंचायत चुनाव लड़ेगी.

वॉर्डों की संख्या घटकर रह गई 3051
यूपी में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए 75 जिलों में परिसीमन के बाद साल 2015 की तुलना में जिला पंचायतों के 3120 वॉर्डों की संख्या घटकर 3051 रह गई है. पिछले पांच सालों में नगरीय निकायों के विस्तार के बाद से पंचायतों का दायरा कम हुआ. 880 ग्राम पंचायतें शहरी क्षेत्रों में विलीन हो गई हैं. परिसीमन के बाद ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत वॉर्डों की सूची जारी कर दी गई है.

प्रदेश में इस बार 59,074 की बजाय 58,194 ग्राम पंचायतों में प्रधान चुने जाएंगे. ग्राम पंचायतों में वार्डों की संख्या भी 12,745 कम हो गई है. इसी क्रम में 826 ब्लॉक प्रमुखों में 75,805 क्षेत्र पंचायत सदस्य चुने जाएंगे. यह वर्ष 2015 की तुलना में 1,996 कम होंगे. पंचायतीराज निदेशक के मुताबिक परिसीमन के बाद वर्ष 2015 की तुलना में ग्राम पंचायत वार्ड 7,44,558 से घटकर 7,31,813 रह गए हैं. इसी तरह क्षेत्र पंचायत सदस्य भी 77,801 से कम होकर 75,805 हों गए हैं.

इतनी होगी जमानत राशि (Security Deposit or Jamanat Rashi)
राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव के लिए खर्च की सीमा और जमानत राशि इस प्रकार तय की है.
ग्राम पंचायत सदस्य के लिए जमानत राशि – 500 रुपये
क्षेत्र पंचायत सदस्य के लिए जमानत राशि- 2000 रुपये
जिला पंचायत के लिए जमानत राशि- 4000 रुपये
प्रधान पद के लिए जमानत राशि – 2000 रुपये

गुरुवार को जारी की थी अंतिम वोटर लिस्ट
पंचायत चुनावों के लिए यूपी में राज्य निर्वाचन आयोग ने गुरुवार को अंतिम वोटर लिस्ट जारी कर दी. इस बार 12.28 करोड़ वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. 2015 के मुकाबले करीब 52 लाख वोटर बढ़े हैं. पिछली बार 11.76 करोड़ मतदाता थे.

'राष्ट्रीय बालिका दिवस' पर सीएम योगी ने दी बधाई, सृष्टि गोस्वामी आज संभालेंगी उत्तराखंड 'सरकार'

WATCH LIVE TV