Shhhhhhhhh..!!कोई देख रहा है, इन साइट पर न करें क्लिक वर्ना आ सकती है जेल की नौबत

सोशल साइट्स पर अश्लील सामग्री सर्च करने वालों की शामत आने वाली है. ऑनलाइन अश्लील सामग्री सर्च करने वालों का अलर्ट यूपी की 1090 सर्विस पर पहुंचेगा और उसका डेटा दर्ज हो जाएगा. जिसका इस्तेमाल उस इलाके में होने वाली छेड़खानी या दुष्कर्म की घटनाओं में अपराधी को पकड़ने में काम आएगा.

Shhhhhhhhh..!!कोई देख रहा है, इन साइट पर न करें क्लिक वर्ना आ सकती है जेल की नौबत
सांकेतिक तस्वीर.

लखनऊ:  दुष्कर्म, अश्लील हरकतों जैसे अपराधों पर लगाम लगाने के लिए यूपी पुलिस ने नायाब रास्ता खोज निकाला है. अब सोशल साइट्स पर अश्लील सामग्री सर्च करने वालों की शामत आने वाली है. दरअसल, अब ऑनलाइन अश्लील सामग्री सर्च करने वालों का अलर्ट उत्तर प्रदेश पुलिस की 1090 सर्विस पर पहुंचेगा और उसका डेटा दर्ज हो जाएगा. जिसका इस्तेमाल उस इलाके में होने वाली छेड़खानी या दुष्कर्म की घटनाओं में अपराधी को पकड़ने में काम आएगा.

अश्लील सामग्री सर्च करने पर सावधान करेगा '1090'
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश पुलिस ने महिला या बच्ची के साथ अश्लील हरकतें करने वालों की मानसिकता बदलने का प्लान बनाया है. इसके लिए इंटरनेट की मदद ली जाएगी. इंटरनेट पर अश्लील वीडियो, पोर्न साइट, या कोई अपराध बढ़ाने वाली साइट खोलने वाले व्यक्ति का 1090 के पास अलर्ट जाएगा. इसके बाद 1090 उसे सावधान रहने का अलर्ट देगा.

इसमें 'छिछोरों के न चलेंगे हथकंडे जब 1090 चलाएगी उन पर डंडे...जिसको सुधार न पाई मास्टर जी की छड़ी, उसके लिए 1090 की हथकड़ी' जैसे अलर्ट मैसेज आपकी साइट पर आएंगे. ऐसा आपराधिक मानसिकता को बदलने के लिए किया जाएगा. साथ ही अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी.

सभी जिलों में होगी व्यवस्था
पहले इसे प्रदेश के 6 जिलों में शुरू किया गया था, जहां इसका अच्छा रिस्पांस मिलने की वजह से अब इसे सभी जिलों में लागू किया जाएगा. इसके मुताबिक महिलाओं की फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम आइडी पर सुरक्षा से संबंधित मैसेज और युवकों को चेतावनी भरा मैसेज भेजा जाएगा.

WATCH LIVE TV