उत्तराखंड के सीएम रावत बोले, पौड़ी में बनेगा माता सीता का भव्य मंदिर

सीता सर्किट में रघुनाथ मंदिर, लक्ष्मण मंदिर, सीता मंदिर व वाल्मिकी मंदिर को जोड़कर धार्मिक आस्था का ये नया धाम विकसित किया जाएगा.

उत्तराखंड के सीएम रावत बोले, पौड़ी में बनेगा माता सीता का भव्य मंदिर
पौराणिक मान्यता है कि पौड़ी जिले के फलस्वाड़ी गांव में माता सीता ने भू-समाधि ली थी.

देहरादून: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पौड़ी जिले के फलस्वाड़ी गांव में माता सीता का भव्य मंदिर बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपेक्षा की है कि इसके लिए क्षेत्र के हर गांव, हर घर से एक शिला, एक मुट्ठी मिट्टी व 11 रुपये दान किया जाए. इसके लिए यात्रा निकाली जाएगी और खुद मुख्यमंत्री भी देवप्रयाग से यात्रा करेंगे. पौराणिक मान्यता है कि पौड़ी जिले के फलस्वाड़ी गांव में माता सीता ने भू-समाधि ली थी. राज्य सरकार इसे सीता माता सर्किट के तौर पर विकसित करना चाहती है. सरकार ने इसपर काम भी शुरू कर दिया है. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के दिशानिर्देश पर इस दिशा में काम भी शुरू हो गया है. 

सीता माता सर्किट पौड़ी जिले के विकास में भी एक मील का पत्थर साबित होगा और जो लोग आज तक इस पौराणिक मान्यता वाले स्थान से अंजान थे, वो भी इसे जान पाएंगे. भगवान राम और माता सीता में आस्था रखने वाले भक्त यहां जरूर आना चाहेंगे. इसलिए इस स्थान पर माता सीता का एक भव्य मंदिर बनाया जाएगा और इसमें आम जन से सहयोग लिया जाएगा. खुद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत देवप्रयाग से इसके लिए यात्रा करेंगे. यही नहीं बहुत से संत महात्मा भी इस मुहिम में शामिल होना चाहते हैं. 

सीता सर्किट में रघुनाथ मंदिर, लक्ष्मण मंदिर, सीता मंदिर व वाल्मिकी मंदिर को जोड़कर धार्मिक आस्था का ये नया धाम विकसित किया जाएगा. मान्यता है कि सीता माता यहां की आराध्य देवी भी हैं. सीएम त्रिवेंद्र रावत की मानें, तो सरकार इस सर्किट को विकसित करेगी और जनसहयोग से पैसा भी जुटाया जाएगा. बाकि जो कमी रहेगी, वो सरकार ट्रस्ट बनाकर पूरा करेगी. सीता माता सर्किट पौड़ी जिले के विकास के लिए काफी अहम साबित होगा. इससे धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. साथ ही इस क्षेत्र को भी एक अलग पहचान मिलेगी. धार्मिक तीर्थाटन के नजरिये से देवभूमि किसी परिचय की मोहताज नहीं और हर साल यहां चारधाम यात्रा में लाखों श्रद्धालु आते हैं.