UP: अयोध्या में 2 भाइयों की संदिग्ध मौत से हड़कंप, घर में मिली दोनों की लाश

सीओ सिटी अरविंद चौरसिया का कहना है कि पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही मौत की सही वजह सामने आ सकेगी.  

UP: अयोध्या में 2 भाइयों की संदिग्ध मौत से हड़कंप, घर में मिली दोनों की लाश
सिख परिवार के दो सगे भाइयों के शव घर के एक कमरे से मिले.

मनमीत गुप्ता/अयोध्या: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) में दो भाइयों की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है. सिख परिवार के दो सगे भाइयों के शव घर के एक कमरे से मिले.

पूरा मामला कोतवाली नगर मोहल्ला गणेश नगर लालबाग का है. जानकारी के मुताबिक, मरने वाले सरदार जसवीर सिंह और सरदार करतार सिंह हैं. सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्ट मॉर्टम के लिए भेज कर जांच शुरु कर दी है. सीओ सिटी अरविंद चौरसिया का कहना है कि पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की सही वजह सामने आ सकेगी.

पुलिस ने बताया कि लालबाग में एक किराए के मकान में रह रहे जज के पेशकार पद से रिटायर सरदार बलवंत सिंह (90 साल) के दो बेटों सरदार जसवीर सिंह (60) और सरदार करतार सिंह (40) की संदिग्ध मौत हो गई. पुलिस के मुताबिक दोनों भाईयों की फतेहगंज मोहल्ले में जनरल मर्चेंट की दुकान थी. दोनों भाई अविवाहित थे.

सीओ सिटी अरविंद चौरसिया ने बताया कि मंगलवार शाम दोनों भाई घर में सामान्य हालत में देखे गए थे. बुधवार की सुबह घर में काम करने वाली नौकरानी रोजाना की तरह आई, लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला. जिसके बाद शंका होने पर आस पड़ोस के लोगों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने दरवाजा तोड़ कर जब कमरा खोला तो दोनों भाइयों की लाश घर के एक ही कमरे में मिली. दूसरे कमरे में मृतकों के पिता सरदार बलवंत सिंह बैठे हुए थे जिनकी मानसिक स्तिथि ठीक नहीं बताई जा रही है.

सीओ ने बताया कि लालबाग मोहल्ले में बलवंत सिंह का परिवार 70 साल से किराए के मकान में रह रहा था. जानकारी के मुताबिक, छोटा भाई करतार सिंह मानसिक रूप से विक्षिप्त था. वहीं बलवंत सिंह भी खुद डिप्रेशन के मरीज बताए जा रहे हैं.