ये तेरी मस्जिद-ये मेरी मस्जिद, इमाम बनने को लेकर भिड़ गए दो भाई

शहर काजी जरताब रजा खां शुक्रवार को बादशाह बेगम मस्जिद में नमाज पढ़ाने पहुंचे. जैसे ही जमात खड़ी हुई और उन्होंने नमाज पढ़ानी चाही, वैसे ही उनके फुफेरे भाई, मस्जिद के इमाम और शहर मुफ्ती मासूम रजा के भांजे तहसीन रजा खान विरोध करने लगे.

ये तेरी मस्जिद-ये मेरी मस्जिद, इमाम बनने को लेकर भिड़ गए दो भाई
बादशाह बेगम मस्जिद में नमाज पढ़ाने को लेकर मस्जिद के अंदर ही दो पक्ष आमने-सामने आ गए.

पीलीभीत: पीलीभीत के सदर कोतवाली क्षेत्र की बादशाह बेगम मस्जिद में नमाज पढ़ाने को लेकर मस्जिद के अंदर ही दो पक्ष आमने-सामने आ गए. दोनों पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए मस्जिद में जबरन नमाज पढ़ाने की कोशिश करने लगे. मामले की सूचना पाकर सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सदर और दो थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गयी और दोनों पक्षों को समझाने की कोशिश की. बड़ी मुश्किल से दोनों पक्ष नमाज पढ़ने को राजी हुए. मस्जिद में दो बार जुमे की नमाज पढ़ी गई, दोनों पक्षों ने अलग-अलग नमाज पढ़ाई. फिलहाल मामले की गंभीरता को देखते हुए मस्जिद के बाहर फोर्स तैनात की गई. पुलिस मामले की जांच कर रही है. 

पीएम आवास योजना में UP को पहला पुरस्कार, सीएम योगी बोले-पूरा होगा सबके 'अपना घर' का सपना

इमामत की दावेदारी को लेकर विवाद
आपको बता दें कि शहर काजी जरताब रजा खां शुक्रवार को बादशाह बेगम मस्जिद में नमाज पढ़ाने पहुंचे. जैसे ही जमात खड़ी हुई और उन्होंने नमाज पढ़ानी चाही, वैसे ही उनके फुफेरे भाई, मस्जिद के इमाम और शहर मुफ्ती मासूम रजा के भांजे तहसीन रजा खान विरोध करने लगे. क्योंकि मस्जिद में तहसीन रजा खान ही नमाज पढ़ाते आ रहे हैं. दोनों ही भाई यानी जरताब रजा व तहसीन रजा मस्जिद की इमामत को लेकर अपना-अपना दावा करने लगे. इसकी सूचना जैसे ही पुलिस के अधिकारियों को हुई, तो अधिकारी और शहर कोतवाल श्रीकांत द्विवेदी पुलिस के साथ मस्जिद में पहुंचे. वहां पहुंचकर शहर कोतवाल ने माइक छीनकर बंद कर दिया, जिसको लेकर लोगों में आक्रोश है. 

योगी सरकार की माफिया अतीक पर एक और बड़ी कार्रवाई, 50 करोड़ रुपये की जमीन कुर्क

बीजेपी का तारीफ करने पर रचा षड़यंत्र
शहर काजी जरताब रजा ने आरोप लगाया कि उनके चाचा मासूम रजा खान व फुफेरे भाई तहसीन लोगों को भड़का रहे हैं. उन्होंने कहा वे पिछले चुनाव में बीजेपी के समर्थन में थे. उन्होंने धारा 370, CAA और तीन तलाक के मुद्दे पर बीजेपी की तारीफ की थी. जिसको लेकर उनके रिश्तेदारों को भड़काकर मस्जिद की इमामत कब्जा करना चाह रहे हैं, जबकि वो लंबे समय से इसी मस्जिद की इमामत करते चले आ रहे हैं. बीच में कुछ दिनों के लिए वो बाहर चले गए थे, तभी मासूम रजा ने लोगों को भड़काकर षडयंत्र रचा और मस्जिद में नमाज पढ़ाने लगे. 

पुलिस ने नए साल पर जनता को दिया तोहफा, अब चोरी हुए फोन की घर बैठे कर सकते हैं शिकायत

जमीन को लेकर है सारा विवाद
वहीं, इस मामले में मासूम रजा खान के रिश्तेदार रियाजुल रजा (एडवोकेट) से हुई, तो उन्होंने बताया कि मुफ्ती मौलाना मासूम रजा खान लंबे समय से इस मस्जिद की इमामत करते रहे हैं. लेकिन अब उनकी लंबी उम्र व खराब तबीयत के चलते उनके बहन के बेटे तहसीन रजा खान ही इमामत कर रहे हैं. उन्होंने यह भी बताया कि रमजान में तराबीह भी यही लोग पढ़ाते थे. सब कुछ ठीक चल रहा था, लेकिन अभी कुछ दिन पहले मस्जिद के नाम वक्फ की 76 डिसिमल जमीन निकली थी, जिसको कब्जा करने के लिए ही सारा विवाद चल रहा है. 

Viral Video: 'शिव तांडव' पर एक साथ 14 लोगों ने बजाया तबला, वीडियो जीत लेगा आपका दिल

अब पुलिस व प्रशासन के अधिकारी मिलकर मामले को निपटाने में लगे हैं. एहतियातन मस्जिद के आस-पास भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है.

WATCH LIVE TV