UP: 21 बोरे कछुओं के साथ दो तस्‍कर गिरफ्तार, ट्रक से जा रहे थे कोलकाता

कछुओं की संख्या लगभग 747 है. पुलिस ने मौके पर वाहन चालक के साथ एक अभियुक्त को दबोचा है. 

UP: 21 बोरे कछुओं के साथ दो तस्‍कर गिरफ्तार, ट्रक से जा रहे थे कोलकाता
इसकी बाजार में कीमत लगभग पांच से छह लाख रुपये है. (फोटो- एएनआई)

फतेहपुर: कछुए की तस्करी कर रहे एक गैंग का वन विभाग व एसटीएफ की संयुक्त टीम ने पदार्फाश कर दिया. कछुए ट्रक के माध्यम से मैनपुरी जनपद से कोलकाता ले जाए जा रहे थे. पुलिस ने ट्रक से लगभग आठ क्विंटल कछुए बरामद किए हैं. कछुओं की संख्या लगभग 747 है. पुलिस ने मौके पर वाहन चालक के साथ एक अभियुक्त को दबोचा है. 

जानकारी के अनुसार, वन विभाग के रेंजर अशोक कुमार को सूचना मिली कि एक ट्रक से कछुए की खेप कोलकाता ले जाई जा रही है, जिस पर वन विभाग ने सक्रियता दिखाते हुए एसटीएफ टीम से राजेश त्रिपाठी, विमल गौतम, शिवेन्द्र सिंह सेंगर को साथ लेकर खागा कोतवाली क्षेत्र के कटोघन टोल प्लाजा पहुंची. जहां ट्रकों को रोक-रोकर तलाशी ली गई. 

इस दौरान एक ट्रक से पुलिस ने कछुए की खेप बरामद की. मौके से टीम ने वाहन चालक समेत एक अन्य व्यक्ति को पकड़ा है. पकड़े गए व्यक्तियों ने अपने नाम सुनील निवासी कुराबअली जनपद मैनपुरी व अशोक निवासी वर्धमान बंगाल बताया है. 

बरामदगी के बाबत वन विभाग के डीएफओ सीपीएस मलिक ने बताया कि कछुए की एक बड़ी खेप पकड़ने में विभाग को कामयाबी हासिल हुई. यह सभी कछुए मैनपुरी जनपद से कोलकाता ले जाये जा रहे थे. ट्रक से लगभग 21 बोरो में आठ क्विंटल कछुए बरामद हुये हैं जिनकी संख्या लगभग 747 है. 

उन्होने बताया कि इसकी बाजार में कीमत लगभग पांच से छह लाख रुपये है. डीएफओ ने बताया कि पकड़े गये अभियुक्तों के अनुसार उनका यह संगठित गिरोह है जो कछुए की तस्करी करता है. अभियुक्तों ने चार लोगों के नाम भी बताए हैं, जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं, जिनमें अशोक, जगदीश कोपरा व विक्की उर्फ लंगड़ा समेत एक अन्य फरार अभियुक्त की तलाश अतिशीघ्र कर ली जाएगी.