खबर का असर: स्ट्रेचर पर रखे शव को नोंच रहा था आवारा कुत्ता, दो पर कार्रवाई, बनी जांच कमेटी

संभल के जिला अस्‍पताल में स्ट्रेचर पर रखा था युवती का शव, सूंघने के बाद शव को नोंचने की कोशिश में लगा आवारा कुत्‍ता. जांच कमेटी बनी. दो पर कार्रवाई. 

खबर का असर:  स्ट्रेचर पर रखे शव को नोंच रहा था आवारा कुत्ता, दो पर कार्रवाई, बनी जांच कमेटी
फाइल फोटो

सुनील कुमार/संभल:  संभल के जिला अस्पताल में एक्सीडेंट में मृत लड़की के शव के पास कुत्ता पहुंच गया था. अब ये मामला गरमा गया है. लापरवाही पर सफाईकर्मी और वार्ड ब्वॉय नप गए हैं. सीएमओ अमिता सिंह ने लापरवाही के आरोप में जिला अस्पताल के सफाईकर्मी और वार्ड ब्वॉय को निलंबित कर दिया है. जांच के लिए कमेटी का गठन किया गया है. अब भी कई पर कार्रवाई की तलवार लटकी हुई है.

ये भी पढ़ें-  यूपी में 'ऑपरेशन क्लीन': पिस्टल दिखाकर व्यापारी से मांगी थी रंगदारी, पुलिस ने किया एनकाउंटर

गुरूवार को  संभल  के  जिला अस्पताल  में तैनात स्वास्थ्यकर्मियों की लापरवाही से बच्ची के शव को नोंचने की कोशिश करते हुए एक  कुत्ते का वीडियो  सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. वायरल हुई खबर के बाद जिला अस्पताल की लापरवाही और संवेदन हीनता की ये खबर  जी उत्तर प्रदेश उत्तराखंड ने प्रमुखता से  दिखाई थी.

सफाई कर्मी और वार्ड ब्वॉय निलंबित
खबर दिखाए जाने के बाद संभल के स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया. देर रात सीएमओ अमिता सिंह ने  जिला अस्पताल पहुंचकर स्टाफ से  बच्ची के शव को नोंचने की कोशिश करते कुत्ते की वायरल वीडियो के मामले में जानकारी ली. सीएमएस डॉ सुशील कुमार से जानकारी के बाद सफाईकर्मी प्रदीप और वार्ड ब्वॉय बिपिन को निलंबित कर दिया गया.  

डॉक्टर और फार्मेसिस्ट पर कार्रवाई, डीएम ने लगाई फटकार
साथ ही ड्यूटी पर तैनात  डॉक्टर और फार्मासिस्ट के खिलाफ कार्रवाई के लिए कमेटी बना दी गई है. दो दिन में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश भी दिए हैं. डीएम अविनाश कृष्ण सिंह ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई के भी निर्देश दिए गए हैं. डीएम ने जिला अस्पताल को इस मामले में कड़ी फटकार लगाई है.

ये था मामला
बुधबार की रात असमौली थाना इलाके में एक युवक अपनी बहन के साथ बाइक से जा रहा था. इस युवक की बाइक को ट्रक ने टक्कर मार दी. ट्रक की टक्कर से दोनों भाई-बहन गंभीर रुप से घायल हो गए. जिनको इलाज के लिए अस्पताल लाया गया. घायल लड़की ने इलाज से पहले ही दम तोड़ दिया. जिसके बाद इस लड़की के शव को अस्पताल कर्मचारियों ने एमरजेसी वार्ड के पीछे सीढ़ियों के नीचे रख दिया. लड़की के परिजन घायल युवक का इलाज करने के लिए इधर-उधर भटक रहे थे. शव के पास कोई मौजूद नहीं था, अस्पताल के कर्मचारी भी शव को वहीं छोड़कर चले गए.

इसी बीच जिला अस्पताल में घूम रहे आवारा कुत्ते  ने स्ट्रेचर पर चादर से ढके हुए शव को खींचने की कोशिश की. कुत्ते ने शव के ऊपर पड़ी हुई चादर में मुंह घुसा दिया था. कुछ देर तक कुत्ते का मुंह चादर के अंदर था और वो शव को नोंचने की कोशिश कर रहा था. इसी बीच अस्पताल में मौजूद किसी शख्स ने शव को नोंचने की कोशिश कर रहे कुत्ते का वीडियो मोबाइल में कैद कर लिया.

अब भी नहीं जागा अस्पताल प्रशासन
हाल ये है कि कुत्ते की वीडियो वायरल होने के बाद भी जिला अस्पताल में आवार घूमते हुए कुत्तों को भगाने के लिए अब भी कुछ नहीं किया जा रहा है. अब भी कुत्ते यहां-वहां घूम रहे हैं. जिस समय सीएमओ अमिता सिंह अस्पताल पहुंची उस समय भी आवारा कुत्ते चहलकदमी कर रहे थे.

नहीं है एक अदद मोर्चरी

ये सम्भल का दुर्भाग्य है कि जिला अस्पताल में एक अदद मोर्चरी तक नहीं है.  जहां शवों को सुरक्षित रखा जा सके. जिला अस्पताल का हाल ये है कि यहां चतुर्थ श्रेणी कर्मी की लापरवाही से वार्ड के अंदर तक कुत्ते टहलते हुए दिख जाते हैं. न गेट पर कोई रोकने वाला न ही इमरजेंसी में कोई इन्हें भगाने वाला.

ये भी पढ़ें-  बच्चा चोरी गैंग का भंडाफोड़, पुलिस ने 20 दिन की अगवा बच्ची को मां से वापस मिलाया

ये भी पढ़ें-  UP की जनता को मिली 7500 करोड़ की सौगात, 16 सड़क परियोजनाएं बढ़ाएंगी रफ़्तार

ये भी पढ़ें-  SSC के स्किल टेस्ट में फर्जीवाड़ा, दूसरे की जगह परीक्षा देने पहुंचे आठ गिरफ्तार

WATCH LIVE TV

ये भी पढ़ें-  यूपी में 'ऑपरेशन क्लीन': पिस्टल दिखाकर व्यापारी से मांगी थी रंगदारी, पुलिस ने किया एनकाउंटर